इजरायल में तिरंगा लहरा भारतीय डेलिगेशन स्वदेश पहुंचा, पार्वती जांगिड़ चुनी गई सर्वश्रेष्ठ डेलीगेट

बाड़मेर। फ्यूचर लीडर ऑफ़ द वर्ल्ड टाइटल के तहत इजरायल और भारत की तरफ से इजरायल में चल रहे वर्ल्ड गवर्नेंस एक्सपेडिशन में भारत के बेहतरीन 30 यंग लीडर्स भाग ले स्वदेश वापस आ गये।
स्वदेश वापसी पर इण्डिया इण्टरनेशनल सेन्टर में इन यंग लीडर्स के सम्मान में फेलिसिएशन सेरेमनी हुई। सबको प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। राजस्थान के लिए बड़े गौरव की बात रही की राजस्थान से एक मात्र चयनित बाड़मेर जिले की गागरिया निवासी पार्वती जांगिड़ सुथार को सर्वश्रेष्ठ डेलीगेट चुना गया और चाणक्य अवार्ड से सम्मानित किया गया।


उत्कृष्ट नेतृत्व क्षमता में भारत का सबसे प्रतिष्ठित अवार्ड पार्वती को मिलना यह बड़े गौरव की बात है। यह अवार्ड यूनाइटेड नेशन्स में भारत के फॉर्मर स्थायी राजदूत अशोक मुखर्जी के कर कमलों द्वारा प्रदान किया गया। श्री मुखर्जी वही चाणक्य हैं जिन्होंने प्रधानमन्त्री मोदी के सपने ‘योग’ को दुनिया उत्सव में मनाये उसे सच में बदलने के लिए प्रमुख भूमिका निभाई। सारे देशों को एक सहमत कर अन्तर्राष्ट्रीय दिवस में जोड़ना और यूनाइटेड नेशन्स द्वारा इसकी विधिवत घोषणा, इन सबके पीछे अशोक मुखर्जी ने प्रमुख भूमिका निभाई थी।
इजरायल में भी छाई रही पार्वती जांगिड़—
पार्वती जांगिड़ की वर्ल्ड गर्वर्नेन्स एक्सपेडिशन में उत्कृस्ट सहभागिता से प्रभावित हो कई डिप्लोमेट, इजरायली विदेश मन्त्री, एम्बेसडर व कई नेताओं ने भी प्रशंशा की, और बधाई दी थी।
इजरायली विदेश मंत्रालय में भी पार्वती का भारत और इजरायल सम्बन्धो पर व्याख्यान उत्कृष्ट रहा, जिसकी बदौलत विदेश मन्त्रालय ने सम्मनित किया। इस गौरवमयी पल पर इजरायली व भारत के कई मन्त्रियों, अधिकारियों ने भी बधाईयां दी। राजस्थान मुख्यमन्त्री वसुंधरा राजे व जोधपुर के ही सांसद, केन्द्रीय मन्त्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने भी इस पल को भारत के लिए गौरव बता बधाई दी।
गौरव की बात है कि इजरायली संसद, क्नेसेट में पार्वती की उपस्थिति विश्व की सबसे कम उम्र की महिला के रूप में हो गई। इजरायली संसद क्नेसेट में पार्वती की मौजूदगी, विचार विमर्श अपने आप में बड़े गौरव की बात है।
13 अक्टूबर से 19 अक्टूबर 2018 तक इजराइल में सम्पन्न WGE—2018 में पार्वती ने यहां हाइफा हीरोज को श्रद्धांजलि कार्यक्रम, भारत-इज़राइल सम्बन्धों पर चर्चा, इजराइल पार्लियामेन्ट क्नेसेट, इजरायली सुप्रीम कोर्ट, भारतीय दूतावास इजराइल, जेरूसलम में सांस्कृतिक आयोजन, यद्व शेम होलोकॉस्ट म्यूजियम, प्राइमरी शिक्षण संस्थान, इजराइल थिंक टैंक, ड्रिप इरीगेशन सिस्टम, बॉर्डर सिक्युरिटी समझाना, विश्व की सबसे खतरनाक जगह गाज़ा पट्टी का दौरा इत्यादि प्रोजेक्ट्स में भाग लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *