जीवन की सफलता का आधार है खेल— मनीष विश्वकर्मा

बागपत। स्व0 जयकुमार पांचाल की स्मृति में आयोजित विश्वकर्मा ट्राफी टी-20 ग्रामीण क्रिकेट प्रतियोगिता का उद्घाटन विश्वकर्मा एकता विकास सभा के प्रदेश अध्यक्ष समाजसेवी एडवोकेट मनीष विश्वकर्मा, मास्टर विनोद विश्वकर्मा तथा इं0 राजेन्द्र पाल पांचाल ने फीता काटकर किया। इस मौके पर मनीष विश्वकर्मा ने कहा कि प्राचीन समय से ही खेलों को जीवन जीने का आधार माना गया है। इससे हमारे शरीर का विकास तो होता ही है, साथ ही यह हमारे जीवन को भी सफल बनाता है। खेल भारतीय संस्कृति एवं एकता का प्रतीक भी है, इसमे कोई भी जाति—भाषा तथा धर्म का विरोध नही किया जाता, अपितु कोई भी किसी भी धर्म का व्यक्ति इसे खेल सकता है। खेल हमारे मार्ग की प्रगति को सुनिश्चित कर एक सफल जीवन बनाने मे सहायक है।
श्री विश्वकर्मा ने कहा कि खेल हमारे जीवन का एक अहम हिस्सा है, यह हमारे शारीरिक एवं मानसिक दोनों के विकास का श्रोत है। एक सफल इंसान के लिए चाहिए कि वह मानसिक तथा शारीरिक दोनो रूप से स्वस्थ रहे, शारीरिक विकास के लिए व्यायाम ज़रूरी है जो हमें खेलों के माध्यम से प्राप्त होता है। क्रिकेट शरीर को स्वस्थ बनाए रखने मे लाभकारी है।
इस मौके पर ओमदत्त पांचाल (आयोजक), नईमा खान, एडवोकेट अनिल दिवाकर, एडवोकेट सरफराज मलिक, एडवोकेट सुनील शर्मा, एडवोकेट शिव पांचाल, सोनू विश्वकर्मा, रोहताश विश्वकर्मा, परमजीत विश्वकर्मा, राहुल विश्वकर्मा, रूपचंद विश्वकर्मा, रामनाथ विश्वकर्मा, एडवोकेट जोनी पांचाल, विक्रांत खांकरा, अमन खांकरा, अभय कुमार, अरुण, राजकुमार, प्रताप, मुकेश, अनिल, विकास, सचिन, मास्टर कंवरपाल, राजू, विपिन पवार, सन्दीप पवार, अनुज पंवार, सतीश पवार, बिजेंद्र, जगपाल, मोनू तंवर, राहुल राणा, सचिन, मास्टर मनोज, हरेंद्र, सोमपाल, गौरव, सुनील, बादशाह, पंकज आदि लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *