“इंटीरियर किंग” नरसी कुलरिया की सोच: समाज में हजारों नरसी कुलरिया की जरूरत

मुम्बई। एक 15 साल का साधारण सा युवा, कठिन परिश्रम कर आज 54 साल की उम्र में इतने बड़े प्रतिष्ठान का मालिक है, जिसकी पहचान देश ही नहीं, विदेशों में भी है। कड़ी मेहनत, कुशल प्रबन्धन, सरल स्वभाव और निराला व्यक्तित्व की बदौलत 39 साल में 700 करोड़ से भी ज्यादा मालियत की कम्पनी खड़ी करके इंटीरियर जगत में पहचान बनाने वाले नरसी कुलरिया की इंटीरियर इंडस्ट्री में जो पहचान है, यदि उनको “इंटीरियर किंग” कहा जाय तो गलत नहीं होगा। दौलत और शोहरत हासिल करने के बाद लोगों के विचार भिन्न हो जाते हैं, वह चाहते हैं कि उनके जैसा कोई दूजा न हो। परन्तु लोगों की सोच से अलग, नरसी कुलरिया की सोच कि समाज में एक नहीं, हजारों नरसी कुलरिया की जरूरत है। धन्य हैं, वन्दनीय हैं, पूज्यनीय हैं ब्रह्मलीन सन्त दुलाराम कुलरिया जी जिन्होंने अपने पुत्र नरसी कुलरिया को ऐसा संस्कार दिया। सिर्फ नरसी कुलरिया ही नहीं, सन्त जी के त्रिरत्न भंवर-नरसी-पूनम कुलरिया की विचारधारा समान है।

“विश्वकर्मा किरण” पत्रिका की टीम अंधेरी स्थित नरसी & एसोसिएट के ऑफिस पहुंची। कुछ क्षण प्रतीक्षा के बाद हम सभी का सामना ऐसे व्यक्तित्व से हुआ जो पूरी तरह एक दार्शनिक की भूमिका में नजर आ रहे थे। बातचीत के दौरान लगा ही नहीं कि किसी बड़े उद्योगपति से बात हो रही है। उनका व्यक्तित्व इतना निराला कि डेढ़ घण्टे का समय कब निकल गया पता ही नहीं चला। छोटी से छोटी बातों पर गौर करने वाले नरसी जी की जीवनी किसी दार्शनिक से कम नहीं। तभी तो आज की तारीख में इतना बड़ा प्रतिष्ठान स्थापित कर निरन्तर प्रगति पथ पर हैं। लोगों को ताज्जुब होगा कि नरसी ग्रुप में 16 हजार महीने से लेकर 25 लाख महीने के वेतन पर काम करने वाले लोग हैं, सभी खुश हैं। कम्पनी में कई हजार लोग काम करने वाले हैं, जो देश के विभिन्न हिस्सों से हैं। बड़ी बात यह कि यहां कोई भेदभाव नहीं। सभी वर्गों और जातियों के लोग नरसी ग्रुप में नौकरी कर रहे हैं। नरसी कुलरिया को अपने बिजनेस के साथ समाज और देश की भी चिंता सताती है। उनका मानना है कि देश सुरक्षित रहेगा तभी समाज सुरक्षित रहेगा। जब समाज सुरक्षित रहेगा तभी बिजनेस चलेगा। नरसी कुलरिया द्वारा समाज और देश के प्रति किया जा रहा योगदान किसी से छिपा नहीं है।

मैंने नरसी कुलरिया को “विश्वकर्मा किरण” पत्रिका भेंट की। उन्होंने पत्रिका का अवलोकन किया और “नरसी ग्रुप” के छपे समाचार के लिये धन्यवाद दिया। उन्होंने पत्रिका प्रकाशन में पूर्ण सहयोग की भी बात कही। इस अवसर पर पत्रिका के समन्वय सम्पादक शिवलाल सुथार, रिच इंटरनेशनल म्यूज़िक कम्पनी के निदेशक व पत्रिका के संरक्षक प्रेमधनी विश्वकर्मा, ऑल मीडिया कॉउंसिल के अध्यक्ष ज्ञानेन्द्र विश्वकर्मा तथा नरसी ग्रुप के सी0ए0 भरत डोयल उपस्थित रहे।

-कमलेश प्रताप विश्वकर्मा, सम्पादक

4 thoughts on ““इंटीरियर किंग” नरसी कुलरिया की सोच: समाज में हजारों नरसी कुलरिया की जरूरत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *