17 सितम्बर को दिल्ली में होगा विश्वकर्मा महासम्मेलन, प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी होंगे मुख्य अतिथि

दिल्ली (दिनेश गौड़)। विश्वकर्मा पूजा दिवस के अवसर पर आगामी 17 सितम्बर को दिल्ली के रामलीला मैदान में राष्ट्रीय स्तर पर विश्वकर्मा महासम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है। इस सम्मेलन में प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी मुख्य अतिथि होंगे। नई दिल्ली स्थित कॉन्स्टिट्यूशन क्लब में इस विश्वकर्मा महासम्मेलन के आयोजन की रूपरेखा निर्धारण सम्बन्धित एक बैठक का आयोजन किया गया। बैठक की अध्यक्षता करते हुए राज्यसभा सांसद रामचन्द्र जांगड़ा ने कहा कि इस विश्वकर्मा महासम्मेलन में देश के सभी राज्यों के साथ ही विदेशों में रह रहे विश्वकर्मा समाज के करीब पांच लाख लोग भाग लेंगे।

उन्होंने कहा कि 17 सितम्बर को ही आत्मनिर्भर भारत की अवधारणा देने वाले महान शिल्पी प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी का जन्मदिवस भी है, जिसके चलते देश भर के विश्वकर्मा समाज के लोगों में भारी उत्साह है। उन्होंने बताया कि इस मौके पर भारत सरकार के कौशल विकास मंत्रालय द्वारा एक प्रदर्शनी भी लगाई जाएगी, जिसमें प्रधानमन्त्री कौशल विकास कार्यक्रम के तहत चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी जाएगी।

श्री जांगड़ा ने कहा कि आजादी के समय से लेकर आज तक विश्वकर्मा समाज ने देश के सकल घरेलू उत्पाद (GDP) में सबसे अधिक योगदान दिया है। इसके साथ ही विश्वकर्मा समाज की एक विशेषता यह भी है कि उन्होंने खुद की अपनी तकनीक विकसित करके पूरे देश में अपने कौशल का परचम फ़हराया है। उन्होंने उन्होंने कहा कि विश्वकर्मा समाज ही अपनी प्रतिभा और कौशल से भारत को फिर से विश्व गुरू का दर्जा दिलवा सकता है। उन्होंने कहा कि प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत के सपने को साकार करने में विश्वकर्मा समाज की अहम भूमिका है।

श्री जांगड़ा ने कहा कि इस महासम्मेलन के आयोजन का उद्देश्य विश्वकर्मा समाज के सभी पांचों वंशजों (मनु, मय, त्वष्टा, शिल्पी और देवज्ञ) को एक मंच पर लाकर उन्हें उनका मान-सम्मान देना होगा। इस सम्मेलन से एक ओर जहां विश्वकर्मा समाज में आपसी भाईचारा बढ़ेगा वहीं दूसरी ओर उनको राजनीतिक ऊर्जा भी प्राप्त होगी। बैठक में कार्यक्रम के आयोजन को लेकर विभिन्न समितियों के गठन को भी अंतिम रूप प्रदान किया गया, जो कार्यक्रम के आयोजन सम्बन्धी विभिन्न कार्यों को कार्यान्वित करेगी।

कार्यक्रम में विश्व के जाने-माने शिल्पकार पदम भूषण राम वनजी सुतार, अखिल भारतीय जांगिड़ ब्राह्मण महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष भामाशाह नेमीचंद शर्मा, महासभा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष कैलाश शर्मा बरनेला, प्रसिद्ध उद्योगपति भंवरलाल कुलरिया (मुम्बई), अमराराम जांगिड़ (दुबई), हरियाणा महासभा के अध्यक्ष डॉ0 शेर सिंह जांगड़ा, जांगिड़ महासभा राजस्थान के प्रदेश अध्यक्ष संजय हर्षवाल, उद्योगपति लीलू राम जांगिड़, रतन लाल शर्मा विश्वकर्मा, पुष्पा शर्मा जांगिड़, के0पी0 नंजुड़ी विश्वकर्मा (सदस्य, विधान परिषद) कर्नाटका, चंद्रपाल भारद्वाज, भरत सुथार, लीला राम, लादू राम, जांगिड़ महासभा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष रवि शंकर शर्मा, वरिष्ठ समाजसेवी दिनेश वत्स विश्वकर्मा, प्रवीण जांगड़ा, जगदीश प्रसाद जांगड़ा, जांगिड़ मोटर्स के चेयरमैन राजेश जांगिड़, पत्रकार दिनेश गौड, अशोक शर्मा जांगिड़, रामपाल, जीवा राम, शिक्षाविद एवं वरिष्ठ समाजसेवी वेदप्रकाश पांचाल, सी0पी0 शर्मा सहित समाज के अनेक गणमान्य व्यक्तियों ने इस कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए अपने सुझाव भी रखे।

5 thoughts on “17 सितम्बर को दिल्ली में होगा विश्वकर्मा महासम्मेलन, प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी होंगे मुख्य अतिथि

  1. Great news
    Great to see united Vishwakama family and congratulations to all peoples working for good cause .
    Dr arvind Kumar verma
    Director aow institute indore no
    and MD Medicare hospital Manawar
    Orthopaedic and ilizarov surgeon indore

  2. Great news
    Great to see united Vishwakama family and congratulations to all peoples working for good cause .
    Dr arvind Kumar verma
    Director aow institute indore no
    and MD Medicare hospital Manawar
    Orthopaedic and ilizarov surgeon indore

  3. मैं सम्मेलन मई भाग लेना चाहता हूँ कृपया अनुमति प्रदान करें .

  4. बहुत ही अच्छा समाचार है जहाँ महासम्मेलन के मंच से हमारा समाज, शासन से प्राप्त महती योजनाओ से भी अवगत होगा और लाभान्वित भी ।
    जय विश्वकर्मा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *