केन्द्रीय जलशक्ति मन्त्री ने पार्वती जांगिड़ व ऊषा विश्वकर्मा सहित भारत की 20 चर्चित महिलाओं को किया सम्मानित

दिल्ली। रिपब्लिक ऑफ वुमेन कॉउन्सिल में बेहतर प्रदर्शन करने वाली भारत की बीस चर्चित महिलाओं को विश्व जल दिवस के अवसर पर केन्द्रीय जलशक्ति मन्त्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने दिल्ली स्थित अपने राजकीय आवास पर सम्मानित किया। राजस्थान प्रदेश के जोधपुर निवासी पार्वती जांगिड़ सुथार रिपब्लिक ऑफ वुमेन कॉउन्सिल की प्रेसिडेंट निर्वाचित हुई हैं। केन्द्रीय मन्त्री ने रिपब्लिक ऑफ वुमेन कॉउन्सिल में भारत से शानदार प्रदर्शन करने वाली बीस महिलाओं के सम्मान में कार्यक्रम आयोजित कर सम्मानित किया।

वैश्विक मंच पर भारत का भिन्न-भिन्न क्षेत्रों में अच्छा प्रदर्शन करने वाली श्रेष्ठ बीस महिलाओं ने नारी सम्मान, सुरक्षा व उपाय तथा जल संरक्षण पर अपने-अपने विचार रखे। विश्व जल दिवस पर देश और दुनिया की जल समृद्धि और जल सुरक्षा के लिए एकजुट होने का संकल्प लिया। सबने एक स्वर में कहा कि जलचिंता से मुक्त कल के लिए आज जल के समुचित उपयोग, संचय व संरक्षण को आदत में शुमार करें। जल संरक्षण ही जीवन रक्षण है।

इस अवसर पर केन्द्रीय जलशक्ति मन्त्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने जोधपुर की 24 वर्षीय बेटी पार्वती जांगिड़ सुथार को साफा पहनाकर व रिपब्लिक ऑफ वुमेन की तरफ से आधिकारिक प्रेसीडेंसी विनर सर्टिफिकेट, ब्युटी ऑन अर्थ, ब्युटी विथ ब्रेन व पीपल चॉइस ग्लोबल गोल अवॉर्ड देकर सम्मानित किया। ज्ञातव्य है कि सिस्टर ऑफ़ बीएसएफ, सेना सिस्टर से विख्यात पार्वती जांगिड़ सुथार ने रिपब्लिक ऑफ वुमेन कॉउन्सिल की प्रेसिडेंट निर्वाचित होकर दुनियाभर में हिन्दुस्तान का मान बढ़ाया है। सामाजिक सरोकारों और मानवीय कार्यों से जुड़ीं पार्वती जांगिड़ को ब्यूटी ऑन अर्थ टाइटल के साथ ही द रिपब्लिक ऑफ वुमेन प्रेसिडेंटियल चुनाव में पहला स्थान प्राप्त हुआ।

केन्द्रीय मन्त्री श्री शेखावत के हाथों सम्मानित होने वाली महिलाओं में पार्वती जांगिड़ सुथार के अलावा विनी अग्रवाल (आयु 36 वर्ष, इन्दौर, एक्टिविस्ट और मोटिवेशनल स्टोरी टेलर, 12 सालों से वह लोगों को प्रेरित कर रही हैं), सीमा समृद्धि कुशवाहा (आयु 39 वर्ष, इटावा-यूपी, एडवोकेट, सोशल एक्टिविस्ट एंड फेमिनिस्ट, वर्ष 2012 में दिल्ली निर्भया सामूहिक बलात्कार और हत्या मामले में पीड़िता की कानूनी वकील होने के लिए जानी जाती हैं), स्क्वाड्रन लीडर अनुष्का लोमस (आयु 35 वर्ष, भारतीय वायु सेना के लड़ाकू विमान की प्रथम महिला इंजीनियर), डॉ0 क्षत्रियमय वेदमनी देवी (आयु 45 वर्ष, मणिपुर, सामाजिक कार्यकर्ता, खाद्य प्रसंस्करण उद्योग में 10 वर्षों से महिलाओं को स्वरोजगार हेतु काम कर रही हैं), शर्मिला ओसवाल (आयु 49 वर्ष, पुणे, जल राजनयिक हार्वर्ड, महिला किसानों को सशक्त बनाने में कार्यरत, ग्रीन एनर्जी फाउंडेशन की अध्यक्ष), ईशा भंडारी (आयु 53 वर्ष, दिल्ली, सामाजिक कार्यकर्ता) सम्मिलित हैैं।

इसके साथ ही ऊषा विश्वकर्मा (आयु 34 वर्ष, लखनऊ, संस्थापक- रेड ब्रिगेड ट्रस्ट, आत्मरक्षा शिक्षा के माध्यम से महिलाओं को सशक्त बनाने पर ध्यान केन्द्रित किया, अब तक डेढ़ लाख महिलाओं को सेल्फ डिफेंस प्रशिक्षण दिया), राबिया भाटिया (आयु 44 वर्ष, नोएडा, शिक्षाविद), आर०जे0 प्रियंका सरकार (आयु 31 वर्ष, सिलीगुड़ी, एक्टिविस्ट और फेमिनिस्ट), डॉ0 कुलीजीत उप्पल (आयु 53 वर्ष, पुणे, दुनिया की प्रथम छवि वैज्ञानिक, शिक्षाविद्, एविएटर, लेखक, सामाजिक कार्यकर्ता), रितिका शर्मा (आयु 26 वर्ष, जम्मू कश्मीर, विकलांग अधिकारों के लिए काम कर रहे संगठन, उनके बेहतर जीवन-यापन के लिए मदद करती हैं), भारती सिंह (आयु 42 वर्ष, सोशल एक्टिविस्ट), ज्योति सिंह ढिल्लों (आयु 42 वर्ष, दिल्ली, सामाजिक उद्यमी), राधिका चौधरी (आयु 25 वर्ष, नोएडा, योग विशेषज्ञ, सामाजिक कार्यकर्ता, पत्रकार), मीनू वर्मा (आयु 28 वर्ष, दिल्ली, सामाजिक कार्यकर्ता, मैनेजर गौतम गंभीर फाउंडेशन) भी सम्मिलित हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *