ठाकुर बाबू के नहीं रहने से एक विद्वान की कमी है खरीक में

भागलपुर। शिक्षक दिवस के अवसर पर खरीक में वर्चुअल संवाद का आयोजन किया गया। जिसका संचालन सत्यनारायण द्वारा किया गया। इस अवसर पर भारत के पूर्व राष्ट्रपति सर्वपल्ली राधाकृष्णन, प्रणब मुखर्जी व भागलपुर के अंतर्गत प्रखंड के अंग्रेजी और गणित के विद्वान स्व0 ठाकुर प्रसाद मिस्त्री सर्वेश को संयुक्त रूप से श्रद्धांजलि दिया गया। सत्यनारायण ने कहा कि जैसे राधाकृष्णन एक महान विद्वान थे उसी तरह भागलपुर जिला के खरीक प्रखंड के ठाकुर बाबू भी शिक्षा के क्षेत्र में एक विद्वान थे। उन्होंने आदर्श उच्च विद्यालय कदवा नवगछिया में 29 वर्षों तक सेवा प्रदान किया। उसके बाद 1995 में उनका स्थानांतरण राजकीय उच्च विद्यालय नौवागढ़ जिला मुंगेर कर दिया गया। वर्ष 2000 में सेवानिवृत्ति हुए उसके के बाद अपने आवास पर निशुल्क शिक्षा देते रहे। इसी वर्ष 20 जनवरी को उनका निधन हो गया। उनके निधन से गंगा-कोशी के बीच खरीक में एक विद्वान की कमी हो गई।

इस अवसर पर विश्वविद्यालय राजनीति विज्ञान विभाग के छात्र उत्तम कुमार झा, निरव, अंकित ठाकुर, कुन्दन तिवारी, स्मृति श्री, पटना इंजीनियरिंग कॉलेज के भास्कर भारती, बनारसी लाल सर्राफ काॅलेज नवगछिया के दुर्गा शर्मा, मारवाड़ी कॉलेज भागलपुर के प्रभाकर भारती आदि ने अपना विचार व्यक्त किया। स्वागत ज्ञापन भास्कर भारती व धन्यवाद ज्ञापन दुर्गा शर्मा ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *