विश्वकर्मा पूजा पर सार्वजनिक अवकाश घोषित करने हेतु दिया गया ज्ञापन

मेरठ। भगवान विश्वकर्मा पूजा दिवस 17 सितम्बर को सार्वजनिक अवकाश घोषित करने हेतु ज्ञापन सिटी मजिस्ट्रेट मेरठ को सौंपा गया। सामाजिक कार्यकर्ता दीपिका सिंह के नेतृत्व में एक समूह कलेक्ट्रेट पहुंचा। लोगों ने प्रधानमन्त्री, उत्तर प्रदेश के मुख्यमन्त्री और दिल्ली के मुख्यमन्त्री को सम्बोधित ज्ञापन जिलाधिकारी की अनुपस्थिति में सिटी मजिस्ट्रेट सत्येन्द्र सिंह को सौंपा।
ज्ञापन के माध्यम से 17 सितम्बर विश्वकर्मा पूजा को सार्वजनिक अवकाश घोषित करने के साथ ही इस दिन को “तकनीकी दिवस” घोषित करने की मांग की गई है। इस अवसर पर श्वेता अवस्थी, अवनी ढिलवाल, प्रशान्त कुमार, अभिषेक व एस0पी0 सिंह पांचाल उपस्थित रहे।

विश्वकर्मा सेवा संस्थान ने भी दिया ज्ञापन

इसके दो दिन पूर्व ही एस0पी0 सिंह पांचाल के नेतृत्व में विश्वकर्मा सेवा संस्थान ने भी जिलाधिकारी मेरठ को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन के माध्यम से प्रधानमन्त्री और यूपी के मुख्यमन्त्री से मांग की गई कि इस दिन को राष्ट्रीय विश्वकर्मा तकनीकी दिवस के रूप में मनाया जाए और इस दिन राष्ट्रीय अवकाश होना चाहिए। ज्ञापन से पूर्व चर्चा में बताया गया कि यह दिन एक विशेष दिन है, भगवान विश्वकर्मा ने ही सबसे पहले तकनीक को इजात किया था और आज जो भी तकनीकी चीज़े प्रचलन में है वह भगवान विश्वकर्मा की ही देन है। पूरे भारत देश में और विश्व के कई अन्य देशों में भी 17 सितम्बर के दिन तकनीक के जनक भगवान विश्वकर्मा की पूजा-अर्चना की जाती है। विश्वकर्मा को ज्ञान-विज्ञान, निर्माण एवं तकनीक का देवता माना जाता है। हमारे प्राचीन धर्म ग्रंथों, यथा, वेद-पुराण तथा उपनिषेदों में भी इसका उल्लेख है। इस मौके पर दर्जनों लोग उपस्थित रहे।

1 thought on “विश्वकर्मा पूजा पर सार्वजनिक अवकाश घोषित करने हेतु दिया गया ज्ञापन

  1. बहुत अच्छा काम किये है आप लोग इसके लिए आप सभी लोगों को कोटि-कोटि धन्यवाद रामप्रसाद विश्वकर्मा जिला महराजगंज उत्तर प्रदेश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *