कोमल पांचाल ने जीता स्वर्ण पदक, हंगरी में लहराया तिरंगा

पानीपत। आज तक कोई भी मैच न हारने वाली कोमल पांचाल ने एक बार फिर हंगरी के बुडापेस्ट में आयोजित वर्ल्ड कैडेट रेसलिंग चैंपियनशिप में तिरंगा लहराया। कोमल ने अजरबैजान की खिलाड़ी को फाइनल मैच में 7-2 से चित कर वर्ल्ड कैडेट रेसलिंग चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक हासिल किया है। समालखा के गांव पट्टी कल्याणा की रहने वाली कोमल ने देश, राज्य और जिले का नाम एक बार फिर रोशन किया है।

समालखा के गांव पट्टी कल्याणा के रहने वाली 16 वर्षीय कोमल पांचाल ने जब से खेलना शुरू किया है, तब से वह एक भी मैच नहीं हारी हैं। कोमल को दो बार वर्ल्ड चैंपियनशिप और एक बार एशियन गेम्स खेलने का मौका मिला। तीनों अंतरराष्ट्रीय चैंपियनशिप में उन्होंने स्वर्ण पदक जीते हैं।
क्वार्टर फाइनल में अमेरिका और फाइनल में अजरबैजान की खिलाड़ी को हराया-
हंगरी के बुडापेस्ट हंगरी में 19 से 25 जुलाई तक आयोजित वर्ल्ड कैडेट वुमेन रेसलिंग चैंपियनशिप में कोमल ने अपने पहले मैच में यूक्रेन की खिलाड़ी को 5-0 से हराया। क्वार्टर फाइनल में 8-7 से अमेरिका की खिलाड़ी, सेमीफाइनल में बेलारूस की खिलाड़ी को 11-0 से हराया। फाइनल में अजरबैजान की खिलाड़ी को 7-2 से चित किया। कोमल का सबसे शानदार मैच सेमीफाइनल बेलारूस की खिलाड़ी के साथ रहा, जब उनके सामने आई खिलाड़ी एक भी प्वाइंट नहीं ले पाईं।
खिलाड़ी और एएसआई कमलेश को देखकर मिलता है प्रोत्साहन-
गांव पट्टी कल्याणा की सीनियर खिलाड़ी एवं एएसआई कमलेश को देखकर कोमल को प्रोत्साहन मिलता है। कोमल बचपन से ही कमलेश को देखकर खेल के लिए और अधिक मेहनत करती थी। कोमल का सपना है कि वह खेल के माध्यम से अपने गांव और देश का नाम पूरी दुनिया में रोशन करे।
किसान पिता ने बेटी को खेलने के लिए बढ़ावा दिया-
किसान पिता सतीश ने बेटी कोमल को हमेशा खेलने के लिए प्रेरित किया। पिता ने घर की आर्थिक हालात कभी बेटी के खेल में आड़े नहीं आने दिए। कोमल की चार बहनें और एक भाई हैं और सभी कुश्ती खेलते हैं।
हॉल खाली हो जाने के बाद भी करती थीं अभ्यास-
कोमल के कोच विनोद के अनुसार कोमल में खेल की इतनी लगन थी कि वह स्कूल के हॉल से सभी खिलाड़ियों के जाने के बाद भी अकेले ही अभ्यास करती रहती थी। कोमल प्रतिभाशाली खिलाड़ी है, वह दिन भर अभ्यास करने के बाद भी कभी यह नहीं कहती थी कि थक गई है।
हर प्रतियोगिता में जीता स्वर्ण-
2016 अंडर-15 वर्ल्ड चैंपियनशिप जापान।
2018 एशियन गेम्स।
2019 वर्ल्ड जूनियर कैडेट रेसलिंग चैंपियनशिप।
2021 वर्ल्ड कैडेट रेसलिंग चैंपियनशिप हंगरी।
कोमल की इस जीत पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, हरियाणा से भाजपा राज्यसभा सांसद रामचन्द्र जांगड़ा, उपायुक्त सुशील सारवान ने कोमल को उनकी जीत पर बधाई दी है। उन्होंने कहा कि हरियाणा के खिलाड़ियों ने हमेशा ही राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पदक जीतकर देश का नाम रोशन किया है। इसके अलावा तमाम राजनेताओं, समाजसेवियों और सामाजिक संगठनों ने कोमल को बधाई दिया है।

1 thought on “कोमल पांचाल ने जीता स्वर्ण पदक, हंगरी में लहराया तिरंगा

  1. बिटिया कोमल को बहुत बहुत बधाई और शुभकामनाएं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *