विश्वकर्मा स्वाभिमान सम्मेलन में योगी सरकार पर हमला

गोण्डा। विश्वकर्मा समाज वोट के महत्व को समझे और एकजुट होकर सत्ता और सरकार में भागीदारी निभाये। उक्त बातें अखिल भारतीय विश्वकर्मा शिल्पकार महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्वमन्त्री राम आसरे विश्वकर्मा ने गोण्डा के गांधी पार्क में विश्वकर्मा स्वाभिमान सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कहा। श्री विश्वकर्मा ने कहा कि भगवान विश्वकर्मा हमारे आराध्य देव हैं, पूरा देश 17 सितम्बर विश्वकर्मा पूजा के अवसर पर, केवल विश्वकर्मा ही नहीं बल्कि उद्योग क्षेत्र में काम करने वाले सभी लोग उनकी पूजा करते हैं और उनका सम्मान करते हैं। लेकिन प्रदेश की भाजपा सरकार ने भगवान विश्वकर्मा के पूजा दिवस के सार्वजनिक अवकाश को निरस्त कर उनका अपमान किया है।


श्री विश्वकर्मा ने कहा कि हम इस अपमान को कदापि बर्दाश्त नहीं करेंगे। सपा सरकार में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने विश्वकर्मा पूजा दिवस पर सार्वजनिक अवकाश घोषित कर विश्वकर्मा समाज की पहचान बनायी थी जिसे भाजपा सरकार मिटा रही है। जब तक विश्वकर्मा समाज राजनैतिक फैसले नहीं लेगा और विधायक, सांसद, मन्त्री नहीं बनायेगा तब तक समाज न तो मजबूत होगा और न लोगो को भागीदारी मिलेगी। सपा सरकार में राम आसरे विश्वकर्मा को मन्त्री बनाकर सरकार में भागीदारी दी गयी थी। विश्वकर्मा समाज के विकास के लिये नीतियां बनायी गयी थी। समाज के भूमिहीन लोगों को वर्कशाप और कुटीर उद्योग लगाने के लिये ग्रामसभा की जमीनों का पट्टा दिया गया था। सरकारी नौकरियों में भर्ती करने हेतु इण्टर पास विश्वकर्मा समाज के लडकों को आईटीआई का प्रमाणपत्र देने का शासनादेश जारी किया गया था, भाजपा सरकार ने उन पर रोक लगा दी।


श्री विश्वकर्मा ने विश्वकर्मा समाज के लोगों से अपील की कि वे एक नजर अपने कारोबार पर और एक नजर सरकार पर रखें और जो सरकार समाज के हितों के विपरीत काम करे उस सरकार को बदल दे। श्री विश्वकर्मा ने कहा कि भाजपा सरकार में विश्वकर्मा समाज पर लगातार उत्पीड़न और अत्याचार हो रहा है। समाज के लोगों की हत्यायें, बलात्कार और उनकी जमीनों पर कब्जे हो रहे हैं। न तो पुलिस कार्यवाही कर रही है और न ही सरकार सुनवाई कर रही है। आश्चर्य है कि हमारी सरकार में बात—बात पर आन्दोलन करने वाले विश्वकर्मा समाज के कुछ नेता भाजपा सरकार में डर के मारे अब छुप गये हैं और उत्पीड़न के विरोध में बोलने के लिये तैयार नहीं हो रहे हैं।


उन्होंने कहा कि सरकार अगर समाज की सुरक्षा नहीं करती तो विश्वकर्मा ब्रिगेड के नौजवान समाज की सुरक्षा और उनके सम्मान की रक्षा करने के लिये आगे आयें। समाजवादी पार्टी की सरकार में हत्या होने पर सरकार तत्काल कार्यवाही करती थी और सरकार के कोष से उस परिवार की मदद भी होती थी। अब लोग इलाज के अभाव में मर रहे हैं और सरकार मदद नहीं कर रही है। श्री विश्वकर्मा ने नौजवानों से पूछा कि आखिर भाजपा सरकार में कितनी नौकरी मिली। यह सरकार पिछड़े वर्गों के आरक्षण को समाप्त करने की साजिश कर रही है। अगर आरक्षण समाप्त हो गया तो पिछड़े वर्ग के किसी ब्यक्ति को नौकरी नहीं मिलेगी। पहले विश्वकर्मा समाज अपने पुश्तैनी लोहे और लकड़ी के कारोबार पर गुजारा कर लेता था, लेकिन बहुराष्ट्रीय कम्पनियों के आने के कारण उनका बाजार पर कब्जा हो गया और विश्वकर्मा समाज बेरोजगारी और भुखमरी के कगार पर पहुंच गया है।


श्री विश्वकर्मा ने मांग की कि लोहे—लकड़ी का कारोबार विश्वकर्मा समाज के लिये आरक्षित किया जाय और लकड़ी कारोबार पर लगा जीएसटी समाप्त किया जाय तथा सरकार इन्हें विशेष सुविधायें दे। विश्वकर्मा समाज की जनसंख्या के आधार पर सरकारी नौकरियों, सरकारी पदों और राजनीति और सरकार में हिस्सेदारी दी जाय।
सम्मेलन को सम्बोधित करते हुये पूर्व मन्त्री व सपा नेता विनोद सिंह ‘पण्डित’ ने कहा कि वह हमेशा विश्वकर्मा समाज के लोगों के साथ खड़े रहे हैं। उन्होंने विश्वकर्मा समाज के गोण्डा में कार्यालय की जमीन हेतु अपने पास से एक लाख रूपया देने की घोषणा की।


महासभा के प्रदेश अध्यक्ष अच्छेलाल विश्वकर्मा व महामन्त्री राकेश विश्वकर्मा ने सम्मेलन को सम्बोधित करते हुये कहा कि गोण्डा के लोग अच्छा काम कर रहे हैं। प्रदेश कमेटी हर सम्भव उनकी मदद करेगी।
सम्मेलन को महासभा के राष्ट्रीय सचिव विश्वनाथ विश्वकर्मा, प्रदेश सचिव श्याम जी विश्वकर्मा, सपा जिलाध्यक्ष ओमकारनाथ पटेल, श्यामजी विश्वकर्मा, जिलाध्यक्ष मनीराम विश्वकर्मा, अनिल विश्वकर्मा, पुत्तीलाल विश्वकर्मा, किशोरीलाल विश्वकर्मा, साहबदीन विश्वकर्मा, डा0 रमेश वर्मा, अनिल शर्मा, मनोज विश्वकर्मा, महेश विश्वकर्मा, नन्दकिशोर विश्वकर्मा, दिवाकर विश्वकर्मा, चन्द्रशेखर विश्वकर्मा, सोनू विश्वकर्मा, कमल विश्वकर्मा, नरेन्द्र विश्वकर्मा, सुनील विश्वकर्मा, रामदीन विश्वकर्मा, राकेश विश्वकर्मा, रक्षाराम विश्वकर्मा, प्रमोद विश्वकर्मा, श्रवण विश्वकर्मा, कौशल विश्वकर्मा आदि लोगों ने सम्बोधित किया।
इस अवसर पर महासभा की गोण्डा जिला कमेटी की तरफ से 10 गरीब महिलाओं स्वावलम्बी बनाने हेतु सिलाई मशीन प्रदान किया गया।
कार्यक्रम की अध्यक्षता मनीराम विश्वकर्मा और संचालन जयलाल विश्वकर्मा ने किया। आयोजक शिव कुमार विश्वकर्मा ने सभी के प्रति आभार प्रकट किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *