अहमदाबाद नरोडा में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया विश्वकर्मा पूजा समारोह

अहमदाबाद। कोविड-19 महामारी के संबंध में सरकार के दिशा निर्देश को ध्यान में रखते हुए 50 लोगों के भीतर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए प्राइड ऑफ़ पांचाल विश्वकर्मा फाउंडेशन द्वारा विश्वकर्मा पूजा समारोह मनाया गया। फाउंडेशन के सुनील भाई पांचाल व मयंक भाई पंचाल के नेतृत्व में समस्त पदाधिकारियों द्वारा कड़िया (सतवारा) विश्वकर्मा भवन में निर्मित विश्वकर्मा मन्दिर नवा नरोडा अहमदाबाद पूर्व मे भगवान विश्वकर्माजी की पूजा-अर्चना, आरती व प्रसादी भोग वितरण का कार्यक्रम आयोजित किया गया। सभी ने समस्त देशवासियों व विश्वकर्मावंश के परम्परागत कारीगर समाज को भगवान विश्वकर्मा के पूजा दिवस की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी।

इस मौके पर आयोजित पत्रकार वार्ता में अखिल भारतीय विश्वकर्मा शिल्पकार महासभा के राष्ट्रीय महासचिव कालूराम लोहार, राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य धनजीभाई पांचाल व गणपत भाई मिस्त्री ने कहा कि भगवान विश्वकर्मा हमारे आराध्य देवता हैं। सृष्टि की रचना एवं समस्त निर्माण कार्य भगवान विश्वकर्मा ने किया है। भगवान विश्वकर्मा, समाज के गौरव व स्वाभिमान के प्रतीक है। विश्वकर्मा समाज की पहचान भगवान विश्वकर्मा से बनी है। राजस्थान कांग्रेस सरकार के मुख्यमन्त्री अशोक गहलोत ने विश्वकर्मा पूजा का स्वैच्छिक अवकाश घोषित कर विभिन्न विभागों को आदेश जारी किया। भगवान विश्वकर्मा का स्वाभिमान व सम्मान किया। विश्वकर्मा समाज की भावनाएं व आस्था भगवान विश्वकर्मा के पूजा दिवस से जुड़ी हैं। भाजपा सरकार में देश के प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी व गुजरात के मुख्यमन्त्री विजयभाई रुपाणी को भी विश्वकर्मा पूजा का सार्वजनिक अवकाश घोषित करने का ज्ञापन जिलाधिकारी के जरिए पूरे प्रदेश से दिए गए। लेकिन विश्वकर्मा वंशीय कारीगर समाज के साथ अनदेखी कर विश्व के सृजनहार भगवान विश्वकर्मा का अपमान किया है। सरकार को इतनी बड़ी आबादी के स्वाभिमान और भावनाओं का सम्मान करना चाहिए था।

कड़िया (सतवारा) समाज भवन में निर्मित विश्वकर्मा भगवान मन्दिर में कालूराम लोहार, धनजीभाई पांचाल, गोविंदभाई पांचाल, गणपतभाई मिस्त्री, सुनीलभाई पांचाल, मयंकभाई पांचाल, शैलेशभाई पांचाल, हार्दिकभाई पांचाल, अभीभाई पांचाल, केतनभाई पांचाल, पुष्पकभाई, कर्मभाई पांचाल, तेजेंद्रभाई पांचाल, यशभाई पांचाल, मिलनभाई पांचाल, करनाभाई लोहार, सुरेशकुमार लोहार, भारतीबेन पांचाल, गोपीबेन पांचाल आदि पदाधिकारी व अन्य प्रमुख भक्तगण कार्यक्रम में सम्मिलित होकर बड़े हर्षोल्लास के साथ भगवान विश्वकर्मा की पूजा की।

पूजन के बाद समस्त पदाधिकारियों ने विश्वकर्मा चौक (नरोडा चौक) पहुंचकर भगवान विश्वकर्मा को फूल माला पहनाया। यहां लोगों को सम्बोधित करते हुये कालूराम लोहार ने कहा कि विश्वकर्मा समाज को उनकी आबादी के अनुपात मे केंद्र व राज्य सरकार को विश्वकर्मा आयोग विश्वकर्मा विकास बोर्ड, विश्वकर्मा मंत्रालय, विश्वकर्मा बैंक की स्थापना हो। विश्वकर्मा टेक्नोलॉजी एवं इंजीनियरिंग कॉलेजों में विद्यार्थियों को उचित प्रवेश मिले। वहां विश्वकर्मा समाज को राजकीय सरंक्षण, अधिकार और अन्य सुविधाएं मिले। सरकार और राजनीति में समुचित भागीदारी दी जानी चाहिए। कालूराम लोहार ने बताया कि राजस्थान के मुख्यमन्त्री अशोक गहलोत ने सभी सचिवों के साथ बैठकर असंगठित कामगारों के सामाजिक सुरक्षा के लिए बोर्ड बनाने का प्रारूप तैयार करने का आदेश दिया है जो सराहनीय है। इसके लिए हम सभी उनका आभार प्रकट करते हैं।

रिपोर्ट- सुनीलभाई पांचाल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *