समाज के बुनियादी मुद्दों पर तोड़नी होगी संगठन की दीवार- रामआसरे विश्वकर्मा

जबलपुर। स्थानीय बलदेव बाग स्थित जानकी रमण कालेज में विश्वकर्मा महासंगठन द्वारा आयोजित आदर्श विवाह एवं युवक-युवती परिचय सम्मेलन को मुख्य अतिथि पूर्व शिक्षामन्त्री उत्तर प्रदेश एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष अभाविशिम रामआसरे विश्वकर्मा ने सम्बोधित किया। सम्मेलन के विशिष्ट अतिथि उज्जैन के संत आचार्य जगदीश गुरु पांचाल थे। पूर्वमन्त्री श्री विश्वकर्मा ने कहा कि पूरे प्रदेश की विश्वकर्मा समाज की सभी समितियों को एकजुट होकर समाज की लड़ाई सड़क से लेकर सदन तक लड़ने की आवश्यकता है।


सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए श्री विश्वकर्मा ने कहा कि समाज का सम्मान, पहचान और विकास बिना सरकार में भागीदारी के सम्भव नहीं होगा। लोग आपसी स्वार्थ छोड़ समाज के हित में राजनैतिक फैसला लें तभी हिस्सेदारी सम्भव हो सकेगी। समाज के बुनियादी मुद्दों पर दल और संगठन की दीवार तोड़कर सभी समाज की मदद करें। अगर उत्तर प्रदेश में विश्वकर्मा समाज को विधायक और मन्त्री बनाया जा सकता है तो मध्य प्रदेश में विश्वकर्मा को विधायक और मन्त्री क्यों नहीं बनाया जा सकता है। सरकार को विश्वकर्मा समाज के शिक्षा, नौकरी, रोजगार, सुरक्षा के बारे में सोचना होगा नहीं तो विश्वकर्मा समाज खुद फैसला करने को स्वतन्त्र होगा।


सम्मेलन का संचालन आयोजक शरद विश्वकर्मा तथा अध्यक्षता मप्र सरकार के पूर्वसचिव बी0आर0 विश्वकर्मा ने किया। कार्यक्रम में विश्वकर्मा समाज के दो जोड़े का विवाह संगठन के द्वारा सम्पन्न कराया गया तथा सौ से अधिक विश्वकर्मा समाज के युवक-युवतियों का परिचय कार्यक्रम कराया गया।

सम्मेलन में अभाविशिम के राष्ट्रीय महासचिव कालूराम लोहार, राष्ट्रीय सचिव मणिराज विश्वकर्मा, राष्ट्रीय सदस्य धनजीभाई पांचाल, आयोजक रमेश विश्वकर्मा, के0के0 विश्वकर्मा एडवोकेट, ओ0पी0 विश्वकर्मा, कमलेश विश्वकर्मा, रामबाबू विश्वकर्मा, बी0पी0 विश्वकर्मा, रमेश विश्वकर्मा, ओम प्रकाश, जी0पी0 विश्वकर्मा, हरिशंकर विश्वकर्मा, नरेंद्र विश्वकर्मा, अजय शर्मा, महेश, रामपत, सूरज पनागर, राम प्रकाश, एस0के0 विश्वकर्मा, जी0पी0 विश्वकर्मा सागर, राजेश विश्वकर्मा दमोह, एडवोकेट किशन विश्वकर्मा, हरिशंकर विश्वकर्मा जबलपुर, अशोक विश्वकर्मा जिला पंचायत उपाध्यक्ष, बी0के0 विश्वकर्मा उपस्थित रहे।

इसके अलावा राजन विश्वकर्मा पूर्व पार्षद रीवा, संतोष विश्वकर्मा सीधी, पप्पू विश्वकर्मा छतरपुर, हरीश शर्मा इन्दौर, मोतीराम जवणे बैतुल, रामनरेश विश्वकर्मा सतना, नोखेराम विश्वकर्मा नरसिंहपुर, मणिराज विश्वकर्मा भोपाल, फूलचन्द विश्वकर्मा पन्ना, सुरेश विश्वकर्मा सिंगरौली, शिवराज ओझा भोपाल, मुकेश विश्वकर्मा इंदौर, बलराम विश्वकर्मा पिपरिया, महाकौशल विश्वकर्मा विकास परिषद अध्यक्ष रवीन्द्र विश्वकर्मा (रवि), संयोजक मनोहर विश्वकर्मा, सुखचैन विश्वकर्मा, संतोष विश्वकर्मा, रोशन विश्वकर्मा, पुरुषोत्तम विश्वकर्मा, श्री प्रमोद विश्वकर्मा, कंछेदी विश्वकर्मा, मुकेश, परमानंद विश्वकर्मा, नीरज, दीपक, विजय, जितेंद्र, दयाराम, टेकचंद विश्वकर्मा एवं मातृशक्ति महिला मंडल श्रीमती ममता विश्वकर्मा, एडo श्रीमती मनोरमा विश्वकर्मा, ज्योति, वर्षा, मंजू, संगीता, अंजू विश्वकर्मा, शंकरलाल, मनोहरलाल, डी0आर0 विश्वकर्मा, हरजीवन विश्वकर्मा, अनीता शर्मा उमरिया महिला अध्यक्ष, डा0 बी0पी0 विश्वकर्मा रामबाग, महेश विश्वकर्मा छिन्दवाड़ा, संगीता विश्वकर्मा, बबीता नागपुरे, उमा विश्वकर्मा, राजमुनी, शिवकली मालवीय, प्रभा विश्वकर्मा, बलिराम विश्वकर्मा, शरद विश्वकर्मा, राजीव विश्वकर्मा, अशोक विश्वकर्मा, जितेन्द्र विश्वकर्मा, सोमनाथ विश्वकर्मा, रामराज विश्वकर्मा, जी0पी0 विश्वकर्मा, किशन विश्वकर्मा, प्रशान्त विश्वकर्मा, पुष्पेन्द्र विश्वकर्मा, सूर्या विश्वकर्मा एडवोकेट, प्रेम विश्वकर्मा सहित चालीस से अधिक विश्वकर्मा समाज के संगठनों के अध्यक्ष व पदाधिकारी उपस्थित थे।

-मुकेश विश्वकर्मा/शिव प्रकाश विश्वकर्मा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *