सामूहिक विवाह सम्मेलन से बढ़ती है आपस में समरसता- रिछपाल दास महाराज

शाहपुरा। त्रिवेणी धाम में देवउठनी एकादशी के अवसर पर ब्रह्मलीन पद्मश्री संत शिरोमणी नारायण दास जी महाराज के पावन सानिध्य व खोजीद्वाराचार्य रिछपाल दास महाराज के मार्गदर्शन में नि:शुल्क आदर्श जांगिड़ ब्राह्मण सामूहिक विवाह सम्मेलन समिति शाहपुरा के तत्वावधान में जांगिड़ समाज के 10 जोड़ों का सामूहिक विवाह सम्पन्न हुआ। उपस्थित लोगों को आशीर्वाद देते हुए महंत रिछपाल दास महाराज ने कहा कि सामूहिक विवाह सम्मेलन से लोगों में आपसी समरसता व भाईचारे की भावना बढ़ती है तथा कुरीतियों का उन्मूलन होता है। महाराज ने कहा कि आपसी भाईचारे व सद्भाव की भावना से ही स्वस्थ व आदर्श समाज का निर्माण होता है।


कार्यक्रम में महाराज व कथावाचक पं0 गणपति विश्वनाथ शास्त्री का शाल ओढ़ाकर व माल्यार्पण कर सम्मान किया गया। कार्यक्रम में पहाड़गंज मंदिर समिति अध्यक्ष गंगादीन जांगिड़ ने कहा कि लोगों को सामाजिक कुरीतियों के उन्मूलन में एकजुट होकर समाज के विकास पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए। सम्मेलन का प्रतिवेदन प्रस्तुत करते हुए समिति अध्यक्ष दामोदर पंवार ने बताया कि समिति द्वारा यह छठवां सामूहिक विवाह सम्मेलन आयोजित किया जा रहा है जिसमें वर-वधू का विवाह निशुल्क किया जाता है। कार्यकारी अध्यक्ष बाबूलाल आसल्या ने समिति को भामाशाह द्वारा दिए गए सहयोग का विवरण प्रस्तुत किया गया।


कार्यक्रम के दौरान अति विशिष्ट अतिथि अलवर जिला अध्यक्ष मदनलाल जांगिड़, महामंत्री सोहन लाल जांगिड़, प्रदेश उपाध्यक्ष सीताराम टटेरा, मुख्य निर्वाचन अधिकारी नंदलाल जांगिड़, भामाशाह गौरीशंकर जांगिड़, घनेंद्र जांगिड़, पुरुषोत्तम जांगिड़, अंगिरा धाम के पूर्व अध्यक्ष श्रवण जांगिड़, तहसील अध्यक्ष थानागाजी रामप्रताप जांगिड़, ओमप्रकाश जांगिड़, जमवारामगढ़ सूरजमल जांगिड़, बस्सी रमेश रावत, विराटनगर बाबूलाल जांगिड़, अंगिराधाम अध्यक्ष छीतरमल जांगिड़, घनेंद्र जांगिड़, जांगिड़ युवा शक्ति के लालचंद जांगिड़, सुरेश जांगिड़, राम नरेश जांगिड़, अजय जांगिड सहित कई लोगों ने विचार व्यक्त कर समाज के विकास के सुझाव पर प्रकाश डाला। मंच संचालन कवि सीताराम टटेरा व अध्यक्ष दामोदर पंवार द्वारा किया गया।

केन्द्रीय मीडिया कमेटी सदस्य मनोज जांगिड़ ने सामूहिक विवाह सम्मेलन में समाज की प्रतिभाओं का सम्मान कार्यक्रम भी शामिल करने की आवश्यकता जताई। महामंत्री प्रेम कुमार जांगिड़ व कोषाध्यक्ष सत्यनारायण जांगिड़ ने गत सामूहिक विवाह सम्मेलन व छठवें सामूहिक विवाह सम्मेलन के आय-व्यय का ब्योरा प्रस्तुत किया। अमरचंद जाला ने बताया कि सामूहिक विवाह में तेजपाल संग रीतिका, योगेश संग रितु, संतोष संग रीना, अनिल संग प्रियंका, छोटेलाल संग कल्पना, अमित संग वर्षा, मोतीराम संग मंजू, दशरथ संग सुमन, रोनक संग आशा, सतीश संग विनीता का विवाह संपन्न हुआ।
पाणिग्रहण संस्कार के दौरान महंत रिछपाल दास महाराज ने वर वधुओ को आशिर्वाद प्रदान किया। सामूहिक विवाह सम्मेलन में अतिथियों, भामाशाहों, प्रतिभाओं, कार्यक्रम में सहयोग प्रदान करने वाले कार्यकर्ताओं को त्रिवेणी धाम तीर्थ स्थल, ब्रह्मलीन संत शिरोमणी नारायण दास महाराज व रिछपाल दास महाराज का चित्र प्रदान कर सम्मान किया गया। आयोजकों ने दूल्हा-दुल्हन को उपहार प्रदान कर विदाई दी। जांगिड़ समाज के इस सामूहिक विवाह सम्मेलन में हजारों लोगों ने भाग लिया।

सामूहिक विवाह सम्मेलन समिति द्वारा संत प्रसादी का आयोजन
त्रिवेणी धाम शाहपुरा में आयोजित सामूहिक विवाह के उपलक्ष्य में सामूहिक विवाह सम्मेलन समिति द्वारा संत प्रसादी का आयोजन किया गया। इस दौरान आयोजित सामाजिक सम्मेलन में महंत रिछपालदास महाराज ने कहा सामूहिक कार्यक्रमों व आध्यात्मिकता से व्यक्ति में सद्भावना की भावना का विकास होता है। मुख्य अतिथि उद्योगपति घनेंद्र जांगिड़ ने कहा कि लोगों को आपसी सद्भाव व प्रेम की भावना से रहने पर ही व्यक्ति व परिवार का जीवन सुखी रह सकता है। विशिष्ट अतिथि राजेश जांगिड़ खटकड़ ने कहा कि सामूहिक विवाह सम्मेलन से दहेज प्रथा जैसी कुरीतियों का उन्मूलन होता है। कार्यक्रम के दौरान त्रिवेणी धाम में विमलपुरा मौजूद साधु-संतों को पंगत प्रसादी वितरित की गई।


पंगत प्रसादी के दौरान जांगिड़ समाज के बंधुओं सहित त्रिवेणी धाम के विद्यालयों के विद्यार्थियों ने भी प्रसादी ग्रहण की। कार्यक्रम में रामेश्वर प्रसाद जांगिड़, गजेंद्र जांगिड़, गिरधारी लाल जांगिड़, महेश कुमार जांगिड़, सीताराम जांगिड़, कैलाश चंद्र जांगिड़, जगदीश प्रसाद कांट सहित सैकड़ों की संख्या में जांगिड़ समाज के लोग मौजूद थे।

रिपोर्ट— मनोज कुमार शर्मा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *