हम सभी के आराध्य हैं भगवान विश्वकर्मा— रामआसरे विश्वकर्मा

बिजनौर। भगवान विश्वकर्मा हम सभी के आराध्य देव हैं और इन्हीं से ही विश्वकर्मा समाज की पहचान बनी हैं। भगवान विश्वकर्मा और उनके बंशजो का इतिहास जन—जन को बताना होगा तभी हमारा सम्मान बढ़ेगा। उक्त बातें अखिल भारतीय विश्वकर्मा शिल्पकार महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्वमन्त्री राम आसरे विश्वकर्मा ने बिजनौर के ननूपुरा हल्दौर में भगवान विश्वकर्मा मन्दिर में मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर आयोजित विश्वकर्मा सम्मेलन मे कही। श्री विश्वकर्मा ने कहा कि 17 सितम्बर को भगवान विश्वकर्मा के पूजा दिवस का पर्व हमारे लिये गौरव और सम्मान से जुड़ा है। हमने उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी की सरकार में मन्त्री रहते भगवान विश्वकर्मा के पूजा दिवस का सार्वजनिक अवकाश घोषित कराया था। वर्तमान भाजपा सरकार ने भगवान विश्वकर्मा के पूजा दिवस का सार्वजनिक अवकाश निरस्त करके भगवान विश्वकर्मा का अपमान कर दिया। भगवान विश्वकर्मा का अपमान पूरे विश्वकर्मा समाज का अपमान है। विश्वकर्मा समाज को इस बात को महसूस करना चाहिये और सोच समझ कर समाज के हित में फैसला लेना चाहिए।


श्री विश्वकर्मा ने कहा कि सरकार विश्वकर्मा समाज को उनकी जनसंख्या के अनुरूप लोकसभा, राज्यसभा, विधानसभा और सरकार में भागीदारी और हिस्सेदारी सुनिश्चित करे। केन्द्र सरकार 17 सितम्बर भगवान विश्वकर्मा पूजा दिवस पर राष्ट्रीय सार्वजनिक अवकाश घोषित करे। केन्द्र सरकार कारीगरों की उन्नति के लिये विश्वकर्मा कारीगर आयोग तथा कारीगर विकास बोर्ड का गठन करे। सरकार विश्वकर्मा टेक्नोलॉजी विश्वविद्यालय तथा विश्वकर्मा छात्रावास का निर्माण कराये। सरकार सरकारी संस्थाओं और सरकारी भवनों का नामकरण भगवान विश्वकर्मा के नाम पर नामकरण करे। श्री विश्वकर्मा ने सभी विश्वकर्मा बन्धुओं से अपील की कि वे विश्वकर्मा समाज के अधिकार सम्मान और गौरव को बचाने के एकजुट होकर बड़ी सामाजिक ताकत और राजनैतिक ताकत बनायें।


इस अवसर पर शंकराचार्य मौनी बाबा, विश्वकर्मा ब्रिगेड के प्रदेश अध्यक्ष आशुतोष विश्वकर्मा, महासभा के कार्यवाहक जिलाध्यक्ष सत्येन्द्र विश्वकर्मा, अशोक धीमान, हरेन्द्र धीमान, मुकेश विश्वकर्मा, राजकुमार विश्वकर्मा, महासभा के जिलाध्यक्ष मेरठ संजय विश्वकर्मा, राजेन्द्र धीमान, विकास विश्वकर्मा, बाबूराम धीमान, प्रमोद धीमान, मंदिर कमेटी अध्यक्ष कृष्णा धीमान, रामनाथ धीमान, राहुल विश्वकर्मा, डा0 राजेन्द्र धीमान, सुरेन्द्र धीमान, प्रशान्त, विपिन, अनिल, कामेन्द्र, प्रकाश, चन्द्रभान, सोनू, पवन, मुनेश, नात्थूराम, अंकित, मनोज सहित काफी संख्या में लोग मौजूद रहे।
कार्यक्रम की अध्यक्षता पं0 ओमप्रकाश धीमान तथा संचालन बलराम शर्मा ने किया।

—शिवप्रकाश विश्वकर्मा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *