श्री विश्वकर्मा शिक्षा समिति द्वारा जांगिड़ समाज प्रतिभा सम्मान समारोह सम्पन्न

Spread the love

सीकर। श्री विश्वकर्मा शिक्षा समिति, श्री विश्वकर्मा पथ, कोर्ट के सामने, सीकर में जांगिड समाज का प्रतिभा सम्मान समारोह आयोजित किया गया। समारोह में जांगिड समाज की प्रतिभाएं जिन्होंने बोर्ड परीक्षा में 80% से अधिक तथा महाविद्यालय परीक्षा में 70% से अधिक अंक प्राप्त किया है उनको सम्मानित किया गया। इसके अलावा खेलकूद व अन्य राज्य व राष्ट्रीय स्तर पर अपनी प्रतिभा से समाज का नाम रोशन किया है, तथा साथ ही 2023 में मेडिकल व इंजीनियरिंग क्षेत्र में आईआईटी, नीट में अपना उत्कृष्ट प्रदर्शन किया उन सभी को तथा इसके अलावा सरकारी सेवाओं में चयन सहित 317 प्रतिभाओं का सम्मान प्रशस्ति पत्र व मोमेंटो देकर किया गया।

समिति के संरक्षक राम प्रसाद जांगिड़ ने बताया कि इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता संस्थान अध्यक्ष रामेश्वर लाल नागवा ने की। मुख्य अतिथि मक्खनलाल जांगिड़ अतिरिक्त प्रादेशिक परिवहन अधिकारी, कृष्णराज डीएसपी, भोमाराम सिंगनोर, राहुल जांगिड़ आरएएस, विशाल जांगिड़ जोधपुर, बी0एल0 जांगिड़, नंदलाल खंडेला, चौथमल रिंगस, चिरंजीलाल खातीपुरा, अभिनेता राज जांगिड़, हीरालाल जांगिड़ पूर्व प्राचार्य उपस्थित थे। विशिष्ट अतिथि महेंद्र जांगिड़ कोटड़ी धायलान, जगदीश प्रसाद, मदनलाल नीमकाथाना, अजय कुमार, देवीदत्त, ताराचंद जांगिड़ कोटड़ी धायलान राष्ट्रीय उपाध्यक्ष महासभा दिल्ली, परमेश्वरलाल, सांवरमल, घीसाराम, रणजीत, शिवचन्द बावडी, रामकरण चला, गोकुल प्रसाद, भंवरलाल पचार, लालचन्द करड, लादुराम दुधवा, जगदीश भीराणा थे।

इस अवसर पर संस्था का प्रतिवेदन ओमप्रकाश दीवाना ने रखा। स्वागत भाषण उपेंद्र शर्मा ने दिया तथा उन्होंने कहा कि समाज को शैक्षिक नवाचारों के साथ आगे बढ़ना चाहिए। आने वाली पीढ़ी के भविष्य को संवारने में शिक्षा समिति का बहुत बड़ा योगदान है। मक्खनलाल जांगिड़ एआरटीओ ने कहा कि आज के विद्यार्थियों को बदलते परिवेश के साथ वैज्ञानिक शिक्षा पद्धति पर ध्यान देना चाहिए। कृष्णराज डीएसपी। ने प्रतिभाओं से रूबरू होते हुए कहा कि अपनी पहचान को कायम करने के लिए माता-पिता व गुरु के निर्देशन व सहयोग से ही स्कूल स्तर के बाद शिक्षा के विभिन्न क्षेत्रों में अपनी रुचि के विषयों के अनुसार शैक्षिक क्षेत्र को चुनना चाहिए। रामप्रसाद जांगिड़ ने इस अवसर पर अपनी बात रखते हुये कहा कि जो भी संस्थाएं शैक्षिक क्षेत्र में अपना अच्छा काम कर रही हैं, उन संस्थाओं को ही समाज को सहयोग करना चाहिए तथा संगठित प्रयास से ही समाज का विकास हो सकता है।

धन्यवाद भाषण चिरंजीलाल खातीपुरा ने दिया। कार्यक्रम का संचालन कृष्ण कुमार जांगिड़ बेरी ने किया। नए संकल्प व नए विचारों के साथ उपस्थित सैकड़ो बंधुओं ने श्री विश्वकर्मा शिक्षा समिति के शैक्षिक नवाचारों को को आगे बढ़ाने के लिए तन-मन-धन से सहयोग करने का सभी उपस्थित बंधुओं ने सामाजिक सम्मेलन में अपनी सहमति दी। साथ ही शिक्षा समिति द्वारा शुरू किए शिक्षा के क्षेत्र के विभिन्न क्षेत्रों में अपना आयाम स्थापित करने के लिए संगठित प्रयास करने पर जोर दिया। “हम होंगे कामयाब एक दिन, हम होंगे कामयाब एक दिन” सामूहिक गीत के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ। इस अवसर पर बजरंगलाल, प्रभाती लाल, सुभाषचन्द, मेघाराम, मनोहरलाल, पोखरण, गोपीराम, रतनलाल, बलदेव प्रसाद, पुरुषोत्तमलाल, फूलचंद सहित सैकड़ो समाज बंधु उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: