जांगिड़ समाज को राजनीतिक प्रतिनिधित्व को लेकर मुख्यमन्त्री से मुलाकात

जयपुर। जांगिड़ समाज के विभिन्न मुद्दों को लेकर अखिल भारतीय जांगिड़ ब्राह्मण महासभा के राष्ट्रीय प्रधान रविशंकर शर्मा के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमण्डल ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व कृषिमन्त्री लालचंद कटारिया से वार्ता कर समाज की समस्याओं से अवगत करवाया।
इस दौरान अखिल भारतीय जांगिड़ ब्राह्मण महासभा के राष्ट्रीय प्रधान रविशंकर शर्मा व प्रदेश प्रभारी कैलाश चंद सालीवाले सहित प्रतिनिधिमण्डल ने मुख्यमंत्री को अवगत करवाया कि प्रदेश में 2 फ़ीसदी से अधिक आबादी होने के बावजूद विश्वकर्मा समाज को राजनीतिक रूप से प्रतिनिधित्व नहीं दिया जा रहा है।
राष्ट्रीय प्रधान रविशंकर शर्मा व प्रतिनिधिमण्डल ने मुख्यमन्त्री अशोक गहलोत व कृषिमन्त्री लालचंद कटारिया से जांगिड़ समाज के पांच सूत्री मांगों से अवगत करवाया।
5 सूत्री मांगों में 1- एकमात्र सादुलशहर से निर्वाचित विधायक जगदीश जांगिड़ को राज्य मंत्रिपरिषद में शामिल करवाने, 2- राज्य में काष्ठकला बोर्ड का गठन करवाने, 3- विभिन्न चुनाव में समाज के लोगों को आबादी के हिसाब से उचित संख्या में टिकट दिलवाने, 4- राज्य सरकार द्वारा मनोनीत होने वाली विभिन्न बोर्डों व निगमों में समाज का प्रतिनिधित्व सुनिश्चित करने, 5- जयपुर शहर में शिल्पकार कॉलोनी बसाने की मांगे रखी। इस दौरान प्रतिनिधिमण्डल ने मुख्यमन्त्री से जांगिड़ समाज महासभा के लिए जयपुर शहर में पर्याप्त भूमि आवंटित करवाने का आग्रह किया।
मुख्यमन्त्री अशोक गहलोत व कृषिमन्त्री लालचंद कटारिया ने प्रतिनिधिमण्डल की 5 सूत्री मांगों व सुझाव को सुनकर शीघ्र ही उचित कार्रवाई करवाने का आश्वासन दिया। अखिल भारतीय जांगिड़ ब्राह्मण महासभा के केंद्रीय मीडिया कमेटी सदस्य मनोज शर्मा ने बताया कि वार्ता के दौरान कृषिमन्त्री लालचंद कटारिया व प्रदेश कांग्रेस के महासचिव तथा मुख्यमन्त्री के पूर्व ओएसडी पुखराज पाराशर भी मौजूद थे।
प्रतिनिधिमण्डल में राष्ट्रीय सलाहकार गजानंद जांगिड़, मनोहर लाल जांगिड़, रामजी लाल जांगिड़ सहित कई लोग प्रतिनिधि के रूप में मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *