दादा से प्रेरित होकर कपिल विश्वकर्मा व चारू विश्वकर्मा बने डॉक्टर, किया समाज व क्षेत्र का नाम रोशन

महेंद्रगढ़। कहते हैं कि बुजुर्गों के संस्कार बच्चों में कही न कहीं अवश्य नजर आते हैं। इसी का उदाहरण शहर के जाने माने डॉ0 ब्रह्मादेव के परिवार में देखने को मिला है। डॉ0 ब्रह्मदेव के लड़के शिव शर्मा का बेटा कपिल विश्वकर्मा व बेटी चारू विश्वकर्मा ने चिकित्सा के क्षेत्र में उच्च स्थान प्राप्त कर परिवार, समाज व क्षेत्र का नाम रोशन किया है। दोनों बच्चों की इस उपलब्धि पर क्षेत्र के गणमान्य लोगों ने परिवार को बधाई देते हुए बच्चों के उज्ज्वल भविष्य की कामना की है।

बच्चों के पिता शिव शर्मा के अनुसार उनके पिताजी डॉ0 ब्रह्मदेव अपने समय के मशहूर चिकित्सक रहे हैं। चिकित्सा के अलावा उनके पिता ने आर्य समाज से जुड़कर अपना सारा जीवन समाज की भलाई करते हुए बिताया है। आज भी उनके पिता गरीब व असहाय लोगों का मुफ्त में इलाज करते हैं। डॉ0 कपिल व डॉ0 चारू बचपन से ही अपने दादा से प्रभावित रहे हैं। उन्हीं की प्रेरणा से डॉ0 कपिल ने रुहेलखंड मेडिकल यूनिवर्सिटी बरेली से एमएस जर्नल सर्जरी में टॉप किया है तथा डॉ0 चारू ने मुजफ्फरनगर मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस में टॉप स्थान प्राप्त किया है।

डॉ0 कपिल व डॉ0 चारू ने बताया कि चिकित्सा के क्षेत्र में जाने की प्रेरणा उन्हें अपने दादा डॉ0 ब्रह्मदेव से मिली तथा इस मुकाम तक पहुंचाने में उनकी दादी डॉ0 संतोष कुमारी, पिता शिव शर्मा व मां पुष्पा देवी ने समय-समय पर उत्साहित करते हुए पूर्ण सहयोग दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *