विश्वकर्मा समाज द्वारा मनाया गया होली मिलन समारोह

वाराणसी। अखिल भारतीय विश्वकर्मा ट्रस्ट वाराणसी द्वारा धर्मवीर नगर कॉलोनी चितईपुर वाराणसी में भरत लाल विश्वकर्मा जी के लान में होली समारोह का आयोजन किया गया। समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के भारतीय जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष हंसराज विश्वकर्मा, पूर्व जिला विकास अधिकारी डॉ0 डी0आर0 विश्वकर्मा एवं सेवानिवृत्त जिलाजज पारसनाथ शर्मा रहे। अति विशिष्ट अतिथि इंजीनियर सी0पी0 विश्वकर्मा, डॉ0 बी0आर0 शर्मा एवं विशिष्ट अतिथि इंजीनियर श्रीनाथ प्रसाद विश्वकर्मा, इंजीनियर हरिशंकर विश्वकर्मा, डॉक्टर धनराज विश्वकर्मा, मौलिक अधिकार पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष संतोष विश्वकर्मा, विधायक प्रत्याशी सदानंद विश्वकर्मा रहे।

कार्यक्रम का शुभारंभ आदिदेव श्री विश्वकर्मा भगवान के माल्यार्पण, पूजन, अर्चन, आरती से किया गया। वक्ताओं द्वारा विश्वकर्मा समाज के उत्थान, उन्नयन एवं सर्वांगीण विकास हेतु यथाशक्ति सहयोग करते हुए किए जाने पर बल दिया गया। कार्यक्रम के अंतर्गत इंजीनियर वी0के0 शर्मा सिंचाई विभाग महासचिव विश्वकर्मा चैरिटेबल ट्रस्ट मुख्यालय सोनभद्र द्वारा समस्त सदस्यों, अतिथियों, विशिष्ट अतिथियों, मुख्य अतिथियों से 2 मिनट हाथ फैला कर संकल्प दिलाया गया कि आज और अभी से हम समस्त संकल्प लेते हैं कि विश्वकर्मा समाज के उत्थान हेतु प्रतिदिन कम से कम एक घंटा सोचना चालू करें। सोचने से ही लिखने की, पढ़ने की, बोलने की एवं करने की चेष्ठा जागृत होगी।

मौलिक अधिकार पार्टी की प्रदेश सचिव एडवोकेट श्रीमती संगीता विश्वकर्मा ने अच्छा पढ़ने के 10 वर्षों बाद इंटर, बीए, एमए, एलएलबी, वकालत करने जैसे संघर्ष याद ताजा करते हुए अपने आप को समाज की एक महिला विधायक होने के जज्बे के संकल्प से समाज में महिलाओं एवं बच्चों की भागीदारी की आवश्यकता पर बल दिया। अति विशिष्ट अतिथि डॉक्टर डी0आर0 विश्वकर्मा द्वारा समस्त विश्वकर्मा बंधुओं से 10 पाप छोड़ने की अपील की गई चोरी, हत्या, पाप, नकल, परिनिंदा, पर पुरुष या पर स्त्री चाहत, चुगली, चापलूसी, झूठ, फरेब।

अपने सम्बोधन में हंसराज विश्वकर्मा द्वारा समाज के किसी भी व्यक्ति का किसी भी राजनीतिक पार्टी में होने पर पूर्ण सहयोग का वचन दिया गया। क्योंकि पहले समाज उसके बाद पार्टी उसके बाद राष्ट्र। उन्होंने डॉक्टर भीमराव अंबेडकर, डॉक्टर सोनेलाल पटेल, ओमप्रकाश राजभर जैसे लोगों का उदाहरण पेश करते हुए समाज को नेतृत्व प्रदान करने की पुरजोर वांछना की गई। समाज का राजनीतिक प्रतिनिधित्व ना होने का कष्ट इन महान विभूतियों को भी सता रहा है। अतः वह दिन अब दूर नहीं है कि जब समाज की एकजुटता एवं संगठन के बूते विश्वकर्मा समाज भी समस्त क्षेत्रों में अपनी सहभागिता निभाते हुए राजनीतिक क्षेत्र में भी अपने आप को प्रतिस्थापित करने में कामयाब होगा। अंत में सभी ने एक-दूसरे को अबीर गुलाल लगाकर होली मिलन का कार्यक्रम किया तथा भव्य भंडारे के आयोजन में प्रसाद चखा। कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री बंसराज विश्वकर्मा जी द्वारा एवं संचालन श्री शशिधर पंचगौण एवं इंजीनियर वी0के0 शर्मा द्वय द्वारा किया गया।

 

विश्वकर्मा सभा काशी चौकाघाट वाराणसी द्वारा सायंकाल होली मिलन एवं परिचय समारोह आयोजित किया गया। जिसमें समाज की महान विभूतियों डॉक्टर्स, इंजिनियर्स, प्रोफेसर्स, सामाजिक एवं राजनैतिक ने प्रतिभाग किया। सभी के द्वारा एकजुट होकर संगठित रहकर पंचायती बाग चौकाघाट वाराणसी में मुख्य मार्ग पर स्थापित विश्वकर्मा शिक्षा निकेतन, विश्वकर्मा धर्मशाला एवं विश्वकर्मा मंदिर तथा कैंपस को अतिक्रमण मुक्त कराने हेतु संघर्ष का शंखनाद किया गया। जिसमें भाजपा जिला अध्यक्ष हंसराज विश्वकर्मा द्वारा हर स्तर पर सामाजिक, आर्थिक, प्रशासनिक, विधिक एवं राजनैतिक हर संभव सहयोग करते हुए 1 अप्रैल 2022 से विद्यालय का कार्य शुभारंभ करने का वचन दिया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता रामचंद्र शर्मा एवं संचालन भूपेश विश्वकर्मा एवं सुरेश विश्वकर्मा द्वय द्वारा किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *