इं0 आशीष शर्मा ने बनाया सोशल डिस्टेंसिंग डिवाइस

लखनऊ। कोरोना वायरस महामारी से बचाव का मुख्य हथियार सोशल डिस्टेंसिंग है। इसका पालन करने को ही लॉक डाउन चल रहा है। इसी को देखते हुये कानपुर आईआईटी में कार्यरत उन्नाव जिले के शुक्लागंज निवासी इंजीनियर ने एक ऐसी डिवाइस बनाई है जो किसी भी व्यक्ति के एक मीटर पास आते ही अलार्म बजने लगता है। शुक्लागंज के गायत्रीनगर भातू फार्म निवासी युवा इंजीनियर आशीष शर्मा कानपुर आईआईटी में इंजीनियर हैं। उन्होंने बताया कि लॉक डाउन के दिनों में उन्होंने घर में ही छोटी सी लैब बना रखी है। खाली समय में उन्होंने डिस्टेंसिंग मेंटेन रखने के लिये एक डिवाइस बनाने का प्रयोग किया, जो सफल रहा। व्यक्ति के पास में डिवाइस होने पर अगर कोई दूसरा व्यक्ति एक मीटर से और अधिक नजदीक आता है तो इस डिवाइस का अलार्म बजने लगता है।


इं0 आशीष शर्मा ने बताया कि उनके द्वारा तैयार किये गये डिवाइस में एक ट्रांसमीटर, एक सेंडर और रिसीवर लगाये गये हैं। यह सेंसर अल्ट्रासोनिक सेंसर से डिस्टेंस मापने के काम आता है। इसमें सेंडर से निकलने वाली किरणों से किसी व्यक्ति से टकराने के बाद रिसीवर से किरणें वापस आती हैं और अलार्म बजने के बाद रेड लाइट जल जाती है। उन्होंने बताया कि बाजार में इसकी कीमत तीन सौ रूपये होगी। इं0 आशीष इस डिवाइस का नाम WS DAD (Wearing Social Distancing Alarming Device) रखा है। आशीष शर्मा ने बताया कि पिता हमें जीवनभर किसी भी परेशानी से बचने के लिए सावधान करते रहते हैं। यही सोचकर उन्होंने इस डिवाइस का नाम डैड रखा। यह डिवाइस भी हमें कोरोना वायरस के संक्रमण से सावधान रहने को कहेगी। उन्होंने कहा कि इस डिवाइस को स्टोर, बैंक जैसी जगहों पर भी उपयोग किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *