इण्टरमीडिएट की छात्राओं के लिए विदाई समारोह आयोजित

रायबरेली। न्यू स्टैण्डर्ड बालिका विद्या मन्दिर रायबरेली के प्रांगण में इण्टरमीडिएट की छात्राओं के लिए विदाई समारोह आयोजित किया गया। विदाई समारोह में विद्यालय के संस्थापक/प्रबंधक शशिकांत शर्मा एवं संयुक्त प्रबन्धिका डा0 रश्मि शर्मा, एन0एस0पी0एस0 सलेथू प्रधानाचार्य राजीव सिंह, एन0एस0पी0एस0 त्रिपुला प्रधानाचार्य शिवलखन प्रजापति, एन0एस0वी0बी0एम0 प्रधानाचार्य तारकेश्वर सिंह ने मां सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण व दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। तत्पश्चात प्रबन्धक द्वारा विद्यालय प्रांगण में वृक्षारोपण किया गया।


सरस्वती मां के पूजन के पश्चात् अतिथि देवो भवः की परम्परा का पालन करते हुए कक्षा-11 की छा़त्राओें ने अपने गुरूजनों एवं कक्षा-12 की छात्राओं को रोली-टीका लगाकर उनका सम्मान किया। इस अवसर पर कक्षा-11 की छात्राओं ने जहां अपने सीनियर्स के लिए एक से बढ़कर एक धमाकेदार गीत-नृत्य प्रस्तुत किये वहीं कक्षा 12 की छा़त्राओं ने भी अपने जूनियर्स के लिए शानदार प्रस्तुतियां प्रस्तुत कीं। कार्यक्रम में कक्षा 11 की छात्राओं ने कक्षा 12 की छात्राओं को स्मृति चिन्ह दिये। विद्यालय की ओर से क्रीड़ा क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाली छात्रा प्रियांशी त्रिपाठी को सलेथू प्रधानाचार्य राजीव सिंह द्वारा समानित किया गया।


सांस्कृतिक कार्यक्रमों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाली शैली गौतम को त्रिपुला प्रधानाचार्य शिवलखन प्रजापाति ने सम्मानित किया। मिस अटायर, मिस सेंसियर, मिस एडवाइजर और मिस बिब्लियोफाइल के सम्मान अंशिका शर्मा, प्रिंसी पटेल, श्रेया शुक्ला, शिवानी पटेल को क्रमशः सयुक्त प्रबन्धिका डा0 रश्मि शर्मा द्वारा प्रदान किये गये। कार्यक्रम में वर्ष पर्यन्त उपस्थित रहने वाली छात्राओं को भी सम्मानित किया गया। सीनियर छात्राओं ने विद्यालय प्रबन्धक को स्मृति चिन्ह भेंट किया। कार्यक्रम का कुशल संचालन कक्षा 11 की छात्राएं अभिलाषा अग्रवाल, सौम्या सिंह, दीपाली पाण्डेय, महक गोयल, खुशी सिंह एवं कोमल वर्मा ने किया।


इस मौके पर प्रबंधक मशशिकांत शर्मा ने अपने सम्बोधन में छात्राओं के उत्साहवर्धन एवं उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हुए कहा कि परिश्रम ही हमें सफलता की मंजिल तक पहंचाता है, इसलिए हमेशा परिश्रम करते रहना चाहिए। शिक्षा ही वह सफलता की कुंजी है जो हर खुशियों के द्वार को खोल देती है। उन्हांने छात्राओं को जीवन में समय के महत्व के बारे में भी बताया और उनकी असीम ऊर्जा व क्षमताओं का परिचय कराते हुए कहा कि यदि मन में लक्ष्य पाने का इरादा पक्का है तो दुनिया की कोई ताकत लक्ष्य तक पहुंचने से रोक नहीं सकती। सोच हमेशा सकारात्मक होनी चाहिए।
इस अवसर पर संध्या अग्रवाल, आर0एन0 सिंह, ज्ञानेन्द्र तिवारी, नितिन सिंह, रमाशंकर पाठक, कविता शर्मा, देवाशीष त्रिवेदी, प्रमान्शु श्रीवास्तव, इरम सिदीकी, शाइस्ता शकील, शिवांगी सिंह, अमिता द्विवेदी, सहित अन्य शिक्षक-शिक्षिकाएं एवं समस्त विद्यालय कर्मचारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *