सामाजिक परिवर्तन के लिए नौजवानों को आगे आना होगा- अशोक विश्वकर्मा

कैमूर। बिहार प्रदेश के कैमूर जिला अन्तर्गत चैनपुर में स्थित प्राचीन विश्वकर्मा मन्दिर के 82वें स्थापना दिवस के अवसर पर भव्य पूजन समारोह एवं बिहार लोहार महासभा के तत्वावधान में विशाल एकजुटता सम्मेलन का आयोजन किया गया। सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए मुख्य अतिथि ऑल इण्डिया यूनाइटेड विश्वकर्मा शिल्पकार महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक कुमार विश्वकर्मा ने कहा कि देव शिल्पी भगवान विश्वकर्मा हमारी सामाजिक, संस्कृति, अस्तित्व, पहचान, स्वाभिमान और गौरव के प्रतीक सृजन के देवता हैं। भगवान विश्वकर्मा तथा उनकी संततियों ने देवताओं सहित समस्त मानव प्राणी के सुरक्षा और विकास के लिए अनेकों कार्य किए। भगवान विश्वकर्मा की अनंत महिमा पुराणों एवं शास्त्रों में वर्णित है। भगवान विश्वकर्मा किसी एक व्यक्ति जाति और समाज के देवता नहीं हैं, वह देवलोक से लेकर सम्पूर्ण जगत में सभी के द्वारा पूजित हैं।


उन्होंने कहा कि विश्वकर्मा वंशियो ने हिन्दुत्व और राष्ट्र की रक्षा में सिख गुरुओं, मेवाड़ के राजपूतों तथा मराठा पेशवाओं के लिए अस्त्र-शस्त्रों के निर्माण के साथ ही युद्ध में अहम योगदान किया। कहा कि, आजादी के बाद से आज तक इस समाज के लोग सर्वाधिक उपेक्षित और भेदभाव के शिकार हैं। समाज को विकास की मुख्यधारा से जोड़ने तथा सामाजिक समता और प्रत्येक क्षेत्र में भागीदारी के लिए समाज को संगठित होकर संघर्ष करना होगा उन्होंने सामाजिक परिवर्तन के आंदोलन में नौजवानों की भूमिका को अहम बताते हुए आगे आनेे का आह्वान किया। कार्यक्रम के आरम्भ में भगवान विश्वकर्मा का वैदिक विधि-विधान से पूजा एवं यज्ञ किया गया। कार्यक्रम के अंत में विशाल भण्डारा व सहभोज का भी आयोजन हुआ।


कार्यक्रम की अध्यक्षता चैनपुर प्रखण्ड के अध्यक्ष शिवकुमार शर्मा एवं संचालन रामराज शर्मा ने किया। विचार व्यक्त करने वाले लोगों में बिहार लोहार महासभा के प्रदेश अध्यक्ष जगनारायण शर्मा, लोजपा झारखण्ड के प्रदेश उपाध्यक्ष राम सिंहासन शर्मा, कैमूर के जिलाध्यक्ष राम चेला शर्मा, चिरकुट शर्मा, चंदौली के जिला अध्यक्ष श्रीकांत विश्वकर्मा, मिर्जापुर के जिला अध्यक्ष डॉ0 प्रमोद कुमार विश्वकर्मा प्रमुख रहे। इस अवसर पर दीनदयाल विश्वकर्मा, सुरेश विश्वकर्मा, केशव शर्मा, राम आशीष शर्मा, महातिम शर्मा, राम प्रवेश शर्मा, संजय शर्मा, मुन्ना शर्मा, शंकर शर्मा, डॉ0 जोखू शर्मा, राजेश शर्मा, प्रमोद कुमार शर्मा, विजय शर्मा, राजेंद्र शर्मा, सुदर्शन शर्मा, राहुल शर्मा, वीरेंद्र शर्मा, सीताराम शर्मा, सुभाष शर्मा, श्याम चंद्र शर्मा, सीता शर्मा सहित हजारों लोग उपस्थित थे।

1 thought on “सामाजिक परिवर्तन के लिए नौजवानों को आगे आना होगा- अशोक विश्वकर्मा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *