सपा ने सरकार में रहकर और सरकार से बाहर रहकर भी बढ़ाया विश्वकर्मा का सम्मान- रामआसरे विश्वकर्मा

लखनऊ। पूर्वमंत्री रामआसरे विश्वकर्मा ने विश्वकर्मा पूजा के अवसर पर इटावा जनपद में समाजवादी पार्टी कार्यालय, मैथिल ब्राह्मण धर्मशाला इटावा और करहल कस्बे में भगवान विश्वकर्मा का पूजन-हवन किया, शोभायात्रा निकाली। कन्नौज में सपा कार्यालय पर विश्वकर्मा पूजा व सम्मेलन को सम्बोधित किया। पूर्वमंत्री ने शर्मा-विश्वकर्मा समाज के सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि 17 सितंबर भगवान विश्वकर्मा के पूजा दिवस पर सभी प्रदेशवासियों, विश्वकर्मा-शर्मा तथा शिल्पकार समाज को बधाई देते हैं। आज के दिन भगवान विश्वकर्मा का पूजा पर्व पूरे देश में मनाया जाता है। सबसे पहले नेताजी और उसके बाद अखिलेश यादव जी ने सपा सरकार मे विश्वकर्मा पूजा का सार्वजनिक अवकाश घोषित किया था। इससे पूरे देश में विश्वकर्मा पूजा का महत्व बढ़ा था। सपा ने सरकार में रहकर और सरकार से बाहर रहकर भी भगवान विश्वकर्मा और उनके वंशजों का सम्मान बढ़ाया।

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने भगवान विश्वकर्मा के पूजा पर्व पर घोषित सार्वजनिक अवकाश निरस्त कर भगवान विश्वकर्मा का अपमान कर दिया। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने 17 सितम्बर को समाजवादी पार्टी के सभी जिला कार्यालयों में विश्वकर्मा पूजा मनाने का आदेश देकर विश्वकर्मा पूजा का महत्व बढ़ा दिया। भाजपा विश्वकर्मा समाज की विरोधी है, क्योंकि वह लोग कभी भी अपने कार्यालय मे भगवान विश्वकर्मा की पूजा नहीं करते। सरकार की गलत नीतियों के चलते प्रदेश में गरीबी, भुखमरी, महंगाई और बेरोजगारी लगातार बढ़ती जा रही है। प्रदेश सरकार द्वारा विश्वकर्मा समाज के पुश्तैनी और परम्परागत कारोबार जैसे लोहे-लकड़ी के रोजगार को बढ़ावा न देने कारण समाज का विकास रूक गया है। नौकरी और रोजगार न मिलने के कारण नौजवानों मे निराशा व्याप्त हो गयी है। आये दिन विश्वकर्मा समाज के ऊपर हो रहे उत्पीड़न समाज के नौजवानों की हत्याएं, महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार, विश्वकर्मा के जमीनों पर कब्जा तथा फर्जी मुकदमों मे फंसाना आदि घटनाओं से विश्वकर्मा समाज दुखी और निराश हो गया है। जनपद बागपत, बहराईच, श्रावस्ती और महराजगंज मे विश्वकर्मा समाज के ऊपर हुए जघन्य अत्याचार से विश्वकर्मा समाज मे आक्रोश व्याप्त है।

श्री विश्वकर्मा ने कहा कि विश्वकर्मा समाज पर सत्ता संरक्षित लोगों के अत्याचार पर कार्यवाही न कर भाजपा सरकार केवल अपना गुणगान करने मे लगी है। सपा सरकार में विश्वकर्मा समाज के विकास के लिये चलाये गये विशेष अभियान जैसे कुटीर उद्योग के लिये ग्रामसभा की जमीन का पट्टा, विश्वकर्मा, लोहार, बढ़ई समाज के नौजवानों को आईटीआई का प्रमाण पत्र, सरकारी विभागों मे पुश्तैनी काम करने वाले लोगों को ही नौकरी और रोजगार देने का कार्य वर्तमान भाजपा सरकार ने बन्द कर दिया। विश्वकर्मा समाज भगवान विश्वकर्मा के अपमान को बर्दाश्त नहीं करेगा। हम मांग करते है कि सरकार 17 सितम्बर को विश्वकर्मा पूजा का सार्वजनिक अवकाश घोषित करे। अब यह तय है कि सपा सरकार ही केवल विश्वकर्मा समाज का विकास कर सकती है।

इटावा समाजवादी पार्टी कार्यालय पर विश्वकर्मा पूजा का आयोजन सपा जिला अध्यक्ष गोपाल यादव ने किया। शर्मा धर्मशाला पर विश्वकर्मा पूजा का आयोजन और शोभायात्रा का कार्यक्रम युवा मैथिल ब्राह्मण सभा के रमन शर्मा, नरेन्द्र शर्मा मुन्नू द्वारा किया गया। कस्बा करहल में भगवान विश्वकर्मा शोभायात्रा का आयोजन युवा मैथिल शर्मा समाज के अध्यक्ष दिनेश शर्मा तथा कन्नौज मे पार्टी कार्यालय पर विश्वकर्मा पूजा का आयोजन शंकर शर्मा उर्फ बन्टी शर्मा ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *