मरुधर रत्न को भारत रत्न व खेलमन्त्री का मिला आशीर्वाद

दिल्ली। लोकसभा स्पीकर सहित दर्जनों सख्सियतों ने यूथ पार्लियामेंट की चैयरपर्सन पार्वती जांगिड़ को सम्मानित किया है। केन्द्रीय खेलमंत्री किरन रिजुजु ने मोल्दोवा के अंतर्राष्ट्रीय पदक व द गर्ल हीरो अवार्ड से सम्मानित किया है। यूरोपीय देश, रिपब्लिक ऑफ मोल्दोवा के जिओग्राफी सैन्य संस्थान ने बाड़मेर की बेटी और सामाजिक कार्यकर्ता, युथ आइकॉन व युवा संसद, भारत की चेयरपर्सन पार्वती जांगिड़ सुथार के नाम अंतर्राष्ट्रीय पदक सहित दी नाइट ऑफ इंटरनेशनल इल्लुमिनेशन एंड आर्डर ऑफ लीडरशिप एण्ड दी गर्ल हीरो अवार्ड से अलंकृत किया है।


ज्ञात हो कि पार्वती की छोटी सी जिंदगी की संघर्ष की दास्ताँ यूरोपियन कंट्री माल्दोवा के युवाओं को सद्कार्य व देश के प्रति अपने कर्तव्य निभाने के लिए वहां की जियोग्राफी हिस्टोरिया सैन्य संस्थान पढ़ा रही, गरीबी के कारण वहां के युवा समुद्री डाकू, इत्यादि गलत कार्यों में जा रहे, युवाओं को पार्वती के कार्यों, हिम्मत और गरीबी को मात दे सदकार्य, देश निर्माण की भावना को पढ़ा प्रेरित कर रहे हैं।
पार्वती के हौंसले व हिम्मत को सम्मान देते हुए रिपब्लिक ऑफ मोल्दोवा के जिओग्राफी सैन्य संस्थान ने अलंकृत किया है। पार्वती हर वर्ष रक्षाबंधन निमित्त 7-10 दिन बॉर्डर पर होती हैं।, इसलिए वह जा नहीं पाई और न 14 अगस्त को जोधपुर के पूर्व महाराजा गजसिंह द्वारा वीर दुर्गादास राठौड़ सम्मान ग्रहण कर पाई। यही पार्वती का देश व फौजी भाईयों के प्रति समपर्ण भीड़ से अलग खास बनाता है। अन्तरराष्ट्रीय सम्मान के भारत पहुंचने पर केंद्रीय युवा एवं खेलमंत्री किरन रिजुजु ने पार्वती को इस सम्मान व पदक से मंत्रालय में विभूषित किया। इसके बाद लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला व पूर्व राष्ट्रपति एवं भारत रत्न प्रणब मुखर्जी ने अपने अवास पर बुलाकर सम्मानित कर आशीर्वाद दिया।


इस अवसर पर पार्वती ने कहा कि कड़ी मेहनत, देश के नाम समर्पण और शुभचिन्तकों के आशीर्वाद ने सीमावर्ती गागरिया गाँव से उठाकर विश्व पटल पर खड़ा कर दिया, शपथ है देश का नाम हमेशा गौरवान्वित करुँगी। हाल मारवाड़ की यह बेटी का विजन इंडिया लीडरशिप फेलोशिप में देश के टॉप पांच यंग लीडर में चयन हुआ, जिसके तहत वह दिल्ली में राष्ट्र निर्माण, राष्ट्रवाद, लीडरशिप, पब्लिक पॉलिसी इत्यादि के बारे में सीख रही है। एक साल चलने वाली इस फेलोशिप में जांगिड़ देश के अलग-अलग हिस्सों में जाकर राष्ट्र निर्माण के बारे में और अधिक सीखेगी, इसके तहत इन्हे पांच लाख रुपये स्टाइपेंड भी मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *