धूमधाम से स्थापित हुई भगवान विश्वकर्मा की प्रतिमा, अतिथियों का हुआ सम्मान

जालोर। मांडवला गांव में सुथार समाज तलसर पट्टी 14 गांव द्वारा निर्मित भगवान विश्वकर्मा, काशी विश्वनाथ, भैरुनाथ के नवनिर्मित मंदिर का पांच दिवसीय मूर्ति स्थापना एवं प्राण प्रतिष्ठा 23 जून को साधु-संतों के सानिध्य में संपन्न हुआ। वैदिक मंत्रोच्चार के साथ मंदिर में लाभार्थी परिवार की ओर से हाथी पर सवार होकर तोरण वंदन किया गया। उसके बाद नवनिर्मित मन्दिर में मूर्ति बिराजमान कर मन्दिर शिखर पर कलश स्थापित कर ध्वजारोहण किया गया। मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा को लेकर मंदिर परिसर में मेले जैसा माहौल था। सुबह शुभ मुहूर्त में मन्दिर में भगवान विश्वकर्मा, काशी विश्वनाथ, भैरुनाथ की मूर्ति की स्थापना के साथ मन्दिर के शिखर पर कलश और ध्वजारोहण हुआ। हेलीकॉप्टर से पुष्प वर्षा हुई। सुथार समाज के लोगों ने गुलाल उड़ाकर विश्वकर्मा भगवान के जयकारे लगाए। महिलाओं ने मंगल गीत गाए। मूर्ति स्थापना को लेकर 6 दिन तक विभिन्न कार्यक्रम चलते रहे। अन्तिम दिन मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा की गई।


भजन संध्या में कलाकारों ने दी बेहतरीन प्रस्तुतियां—
रात्रि में भजन संध्या हुई जिसमें राजू सुथार बालोतरा व बाल कलाकार सृष्टि जांगिड़ द्वारा एक से बढ़कर एक भजनों की प्रस्तुतियां दी गई। बीकानेर से आई सृष्टि सुथार ने भंवाई नृत्य, कांच पर नृत्य किया। मंच संचालन मीठालाल जांगिड़ भीनमाल ने किया।


बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने का आह्वान—
कार्यक्रम में उपस्थित पशुपालन बोर्ड के उपाध्यक्ष भूपेंद्र देवासी ने कहा कि सुथार समाज के युवा अब आगे बढ़ रहे है। सुथार समाज के युवाओं ने परीक्षा परिणाम में भी नाम रोशन किया है। वही बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने की बात कही। कार्यक्रम के दौरान पार्वती जांगिड़ सुथार चेयरपर्सन यूथ पार्लियामेंट, बैंगलुरु ट्रस्ट के अध्यक्ष भंवरलाल सुथार, सेवानिवृत्त अधीक्षण अभियंता बीएल सुथार, सीए मोहन पराशर, डॉ0 एमएल जांगिड़, गणपतसिंह राव, अखिल भारतीय विश्वकर्मा छात्र एवं युवा परिषद के जिलाध्यक्ष युवराज सुथार नौरवा, सायला ब्लॉक अध्यक्ष नवाराम सुथार, अखिल भारतीय जांगिड़ ब्राह्मण महासभा दिल्ली के उपप्रधान छगनलाल सुथार मेंगलवा समेत कई जनप्रतिनिधियों व समाजसेवियों का सम्मान किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *