पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बिल क्लिंटन भी खरीद चुके हैं रमेश विश्वकर्मा के बनाए हाथी, अब मिला बड़ा ऑर्डर

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा काशी के उत्पादों की सराहना करने के बाद यहां के कारीगरों की व्यस्तता बढ़ गई है। जतनश्री हैंडीक्राफ्ट कंपनी को गुलाबी मीनाकारी वाले चांदी के हाथी एवं शतरंज का पूरा सेट बनाने के लिए 45 लाख का आर्डर मिला है। आर्डर मिलते ही पूरा परिवार काम में जुट गया है। पिछले साल विश्वनाथन आनंद ने यहां से 16 हजार में शतरंज का सेट खरीदा था। रोहन के पिता रमेश विश्वकर्मा द्वारा गुलाबी मीनाकारी के माध्यम से तैयार पौने तीन किलो का हाथी 2.5 लाख रुपये में बिका था। इससे पहले वर्ष 2000 में अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति बिल क्लिंटन ने 65 हजार में हाथी खरीदी थी।

ज्ञात हो कि, काशी के तीन उत्पादन ओडीओपी में शामिल हैं, जिसमें बनारसी साड़ी व लकड़ी के खिलौने के साथ गुलाबी मीनाकारी भी शामिल है। वैसे आध्यात्म नगरी काशी में यह कारीगरी दशकों से चली आ रही है, लेकिन पीएम नरेंद्र मोदी एवं सीएम योगी आदित्यनाथ की पहल के बाद इसका महत्व और बढ़ गया है। शिल्पियों का कहना है कि इन्होंने जिस प्रकार उनका ध्यान रखा है, शायद ही पहले किसी ने रखा था। यही कारण है कि सोने-चांदी पर गुलाबी मीनाकारी की मांग बढ़ी है। गायघाट के रमेश विश्वकर्मा को गुलाबी मीनकारी की विधा विरासत से मिली है। उनके पिता व दादा भी इससे जुड़े थे। अब रमेश के साथ ही उनके बच्चे भी इस कला से जुड़कर कारोबार को आगे बढ़ा रहे हैं।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने खरीदी थी काशी में बना हाथी-
रमेश विश्वकर्मा बताते हैं कि वे वर्ष 2000 में जयपुर में आयोजित हस्तशिल्प मेले में शामिल हुए थे। उस दौरान तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति बिल क्लिंटन बतौर मुख्य अतिथि मेले में आए थे। उन्हें रमेश द्वारा की गई कारीगरी पसंद आई और उन्होंने 65 हजार में गुलाबी मीनाकारी वर्क हाथी खरीदी थी। बताया कि पीएम की पहल पर इस कला को इतना महत्व मिला कि वर्ष 2015 में एक हाथी 2.5 लाख रुपये में बिक्री हुआ था, जिसका वजन पौने तीन किलो था। इस पर काशी नरेश भी विराजमान थे।
विश्वनाथन आनंद ने खरीदा था शतरंज का सेट-
रमेश विश्वकर्मा के बड़े बेटे रोहन विश्वकर्मा ने बताया कि पिछले साल लॉकडाउन के पहले शतरंज के महान खिलाड़ी विश्वनाथन आनंद भी उनके यहां से गुलाबी मीनाकारी के चांदी जडि़त शतरंज के सेट खरीदे थे। इसके लिए उनकी माता रोहन के घर आई थी। इस शतरंज सेट की कीमत 16 हजार रुपये थी।
एक दिन में ही 12 पीस हाथी व 20 सेट शतरंज का आर्डर-
रोहन ने बताया कि अभी हाल में ही दिल्ली की एक फर्म से 10 पीस हाथी का आर्डर मिला है। इसके अलावा दो पीस उस हाथी का आर्डर मिला है, जिस पर काशी नरेश विराजमान हैं। यही हाथी अमेरिकी राष्ट्रपति बिल क्लिंटन भी लिए थे। इसके साथ ही 20 सेट शतरंज सेट भी बनाना है। इसके बाद से ही रमेश के साथ रोहन विश्वकर्मा व उनकी पत्नी खुशी, बहन रोशनी एवं भाई वैभव विश्वकर्मा भी उत्पाद बनाने में जुट गए हैं। (साभार)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *