शिक्षा और सामाजिक एकता से ही होगा समाज का विकास- विधायक सोनू विश्वकर्मा

कोडरमा। झारखंड प्रदेश विश्वकर्मा समाज की गिरीडीह जिला कमेटी द्वारा हजारीबाग के झुमरी तिलैया डैम में वनभोज सह मिलन समारोह का आयोजन किया गया। समारोह की अध्यक्षता जिला अध्यक्ष सुभाष राणा ने की। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में गिरिडीह सदर विधायक सुदिव्य कुमार सोनू विश्वकर्मा, विशिष्ट अतिथि समाज के प्रदेश अध्यक्ष विकास राणा व सम्मानित अतिथि विश्वकर्मा शिल्पकार महासभा के राष्ट्रीय महासचिव कालूराम लोहार (राजस्थान) उपस्थित रहे।

सह मिलन समारोह को सम्बोधित करते हुए विधायक सुदिव्य कुमार सोनू लोहार ने कहा कि शिक्षा और एकजुटता से ही चेतनाशील समाज का निर्माण सम्भव है। विश्वकर्मा समाज मे धीरे-धीरे सभी चीजों के प्रति जागरूकता आ रही है। मिलन समारोह में लोगों की उपस्थिति देख अंदाजा लगाया जा सकता है कि समाज ने संगठन के प्रथम चरण को हासिल कर लिया है, दूसरे चरण में हमें संगठित होकर राजनैतिक भागीदारी निभाने के लिए सबों को एकजुट होना होगा। उन्होंने कहा कि हम विश्वकर्मा वंशीय हैं मगर शिक्षा, एकता और जागरूकता के अभाव में हमारा समाज आज भी पिछड़ा हुआ है। इसे सामूहिक सहयोग से दूर करने की जरूरत है।

 

प्रदेश अध्यक्ष विकास राणा ने कहा कि कोडरमा जिले में संगठन धीरे-धीरे विस्तार रुप लेते जा रहा है। आप लोगों की एकजुटता और संघर्ष के कारण ही पूरे भारत वर्ष में झारखंड ही एक ऐसा राज्य है जहाँ विश्वकर्मा पूजा के दिन सरकारी अवकाश घोषित किया गया है। हमारे लोग जागरूक हो रहे हैं, राजनैतिक भागीदारी में भी हमारा कदम बढ़ा है। मगर इसमें समाज को बहुत संघर्ष करने की जरूरत है। निकट भविष्य में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव होने जा रहा है, आप लोग संगठित होकर समाज से योग्य लोगों को मुखिया समेत अन्य पदों पर चुनाव में खड़ा करवाकर उन्हें जीत दिलाने के लिए हरसंभव प्रयास करें।

समारोह के सम्मानित अतिथि अखिल भारतीय विश्वकर्मा शिल्पकार महासभा के राष्ट्रीय महासचिव कालूराम लोहार ने कहा कि देश में विश्वकर्मा समाज का गौरवशाली इतिहास होने के बादजूद सभी राज्यों में विश्वकर्मा वंशियों की बहुत बड़ी (12 प्रतिशत) आबादी होने के बावजूद भी राजनैतिक दलों ने परंपरागत कारीगर समाज को केवल वोट बैंक की तरह इस्तेमाल किया। आजाद भारत में इस कारीगर समाज के लिए कोई मंत्रालय, आयोग, निगम, बोर्ड नहीं बना। समाज के बच्चों की बेहतरीन शिक्षा के लिए अलग से आवासीय इंजीनियरिंग कॉलेज की व्यवस्था नहीं है। कोई रोजगार की व्यवस्था नहीं, न तो सामाजिक सुरक्षा की व्यवस्था पर ध्यान दिया गया है। इस देश में किसानों, उद्योगपतियों, पशुपालकों, मछुआरों, आदिवासियों, दलितों, अल्पसंख्यकों, दबंग व सक्षम संगठित वर्ग राजनीति में पकड़ वाले वर्ग के उत्थान के लिए इस देश में व्यवस्था व कानून बने हैं पर कारीगर वर्ग के लिये कुछ भी नहीं। परन्तु अब ऐसा नही होगा, समाज के लोग अपने हक और अधिकार के लिए जागरूक हो चुके हैं।

उन्होंने समाज के लोगों से कहा कि सरकारी विभागों में हमारे लोग नजर नहीं आते, आप लोग अपनी जरूरतों को कम करें लेकिन बच्चों को उच्च शिक्षा अवश्य दें, तभी हमारे बच्चे भी सरकारी विभागों में नजर आएंगे। कालूराम लोहार ने विधायक सोनू लोहार से आग्रह किया कि आप सत्ता में हैं सबसे पहले विश्वकर्मा शिल्पकार विकास बोर्ड का गठन करवाएं। विकास बोर्ड से भी समाज को काफी विकास की राह मिलेगी। समारोह को जिला अध्यक्ष सुभाष राणा, हिरामन मिस्त्री, देवकी राणा आदि ने भी सम्बोधित किया।

इस मौके पर सुखदेव राणा, भुनेश्वर राणा, अशोक राणा, मनोज राणा, द्वारिका राणा, रामदेव राणा, आशीष कु मिस्त्री, सुजीत राणा, रोहित राणा, लाल जी राणा, टुपलाल शर्मा, राजू राणा, उमेश राणा, अरुण राणा, बसन्त राणा, सचिन राणा, सोनू राणा, विजय राणा, विनोद राणा, मुखिया मंजू देवी, चंदू राणा, रामचन्द्र राणा, भगीरथ राणा, खोसो राणा, सुनील भूषण, केदार राणा, सन्तोष कु राणा, पुना राणा, राजकुमार राणा, गंगाधर राणा, सुरेंद्र राणा, गजेंद्र राणा समेत भारी संख्या में समाज के लोग उपस्थित थे।

2 thoughts on “शिक्षा और सामाजिक एकता से ही होगा समाज का विकास- विधायक सोनू विश्वकर्मा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *