राज्यसभा में पहली बार गूंजी शिल्पकारों की आवाज, भाजपा सांसद रामचन्द्र जांगड़ा का अभूतपूर्व उद्बोधन

दिल्ली। भारत के इतिहास में पहली बार राज्यसभा में शिल्पकारों और श्रमिकों की आवाज़ उठी है और आवाज़ उठाने का काम किया है विश्वकर्मा वंशज भाजपा सांसद रामचन्द्र जांगड़ा ने। राज्यसभा सदस्य निर्वाचित होने के बाद सदन में उनका पहला भाषण शिल्पकारों और श्रमिकों पर ही केन्द्रित रहा। ऐसा नहीं है कि वह राज्यसभा में पहले विश्वकर्मा वंशज संसद हैं परन्तु दूसरे सांसदों ने इस तरह आवाज उठाई ही नहीं।

भाजपा सांसद रामचन्द्र जांगड़ा ने सदन में दिये गये अपने भाषण से न सिर्फ शिल्पकारों की बेहतरी के लिये सवाल उठाया बल्कि उनके कला-कौशल का स-सबूत उदाहरण भी प्रस्तुत किया। अपने गौरवपूर्ण उद्बोधन में सुप्रसिद्ध मूर्तिकार राम वी सुथार का भी नाम लिया। सांसद रामचन्द्र जांगड़ा द्वारा राज्यसभा में दिये गये भाषण को इस वीडियो में सुन सकते हैं।

(वीडियो- सौजन्य से राज्यसभा टीवी)

1 thought on “राज्यसभा में पहली बार गूंजी शिल्पकारों की आवाज, भाजपा सांसद रामचन्द्र जांगड़ा का अभूतपूर्व उद्बोधन

  1. इसमे शिल्पकार के लिए आवाज क्या उठा हैं? इसको आवाज उठाना नही, बल्कि पार्टी के चापलूसी करना कहा जाता हैं। जो सिर्फ लिखा हुआ निबंध पढ़ दिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *