पंचायत चुनाव के सहारे बड़ी राजनीतिक ताकत तैयार करेगा विश्वकर्मा समाज- रामआसरे विश्वकर्मा

लखनऊ (शिव प्रकाश विश्वकर्मा)। अखिल भारतीय विश्वकर्मा शिल्पकार महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्वमन्त्री रामआसरे विश्वकर्मा ने कहा है कि आसन्न पंचायत चुनाव में विश्वकर्मा समाज के लोग बड़ी संख्या में जिला पंचायत, क्षेत्र पंचायत व ग्राम पंचायत का चुनाव लड़ेंगे। पंचायत चुनाव के सहारे विश्वकर्मा समाज बड़ी राजनीतिक ताकत तैयार करेगा। श्री विश्वकर्मा ने समाज के लोगों का आवाहन भी किया है कि लोग मजबूती के साथ चुनाव लड़ें। पूर्वमन्त्री लखनऊ के मकबूलगंज स्थित ककुहास विश्वकर्मा मन्दिर में महासभा द्वारा आयोजित बैठक को बतौर मुख्य अतिथि सम्बोधित कर रहे थे।

इस बैठक में प्रदेश कार्यकारिणी के पदाधिकारियों एवं सदस्यों के साथ ही महासभा के सभी जिलाध्यक्ष, विश्वकर्मा ब्रिगेड के सभी जिलाध्यक्ष, महिला सभा की सभी जिलाध्यक्ष व महामन्त्रीगण उपस्थित थे। बैठक की अध्यक्षता प्रदेश अध्यक्ष अच्छेलाल विश्वकर्मा तथा संचालन राष्ट्रीय महासचिव राजेश विश्वकर्मा व प्रदेश महासचिव राकेश विश्वकर्मा ने संयुक्त रूप से किया।

मुख्य अतिथि महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्वमन्त्री रामआसरे विश्वकर्मा ने बैठक को सम्बोधित करते हुये जनपदों से आये हुए सभी पदाधिकारियों का आभार व्यक्त किया। श्री विश्वकर्मा ने कहा कि महासभा संगठन के पदाधिकारी जनपदों में विश्वकर्मा समाज के लोगों को पंचायत चुनाव लड़ाने व जिताने का काम करेंगे। उन्होंने संगठन का विस्तार विधानसभा, ब्लाक, नगर व न्याय पंचायत स्तर पर करने के साथ ही कमेटी बनाकर समाज को जोड़ने का निर्देश दिया।

श्री विश्वकर्मा ने कहा कि अभी से विश्वकर्मा समाज में चौपाल लगाकर भाजपा के झूठ और भ्रम को दूर करें तथा सन् 2022 में सपा सरकार बनाकर अपना मान-सम्मान व सुरक्षा बचाने का काम करें। विश्वकर्मा समाज के नौजवानों, महिलाओं, अधिवक्ताओं, पत्रकारों व अध्यापकों को महासभा के संगठन से जोड़कर समाज की बड़ी ताकत बनाने का भी आवाहन किया। कहा कि, महासभा द्वारा संचालित संगठन विश्वकर्मा ब्रिगेड के पदाधिकारी नौजवानों को आगे लायें तथा लोगों को गुमराह होने से बचायें।

श्री विश्वकर्मा ने कहा कि भाजपा सरकार के चार साल के कार्यकाल में विश्वकर्मा समाज को क्या मिला? सच तो यह है कि सिर्फ गरीबी, बेरोजगारी, बेबसी, लाचारी, महँगाई के अलावा कुछ नहीं मिला। कोरोना काल में लोगों की नौकरी छिन गयी, पिछड़े वर्गों के आरक्षण को छीन लिया गया। भगवान विश्वकर्मा पूजा दिवस 17 सितम्बर की छुट्टी को समाप्त किया गया। पुलिस उत्पीड़न, अन्याय, अत्याचार में लगातार वृद्धि हुई। सामाजिक सुरक्षा हेतु पेंशन, आवास, छात्रवृत्ति, शादी अनुदान, योजनाओं को रोका गया। विश्वकर्मा समाज का जगह-जगह अपमान किया गया। विश्वकर्मा समाज के वर्कशाप का पट्टा व आई0टी0आई0 के शासनादेश को रोका गया। विश्वकर्मा समाज को नौकरी व रोजगार से वंचित किया गया।

श्री विश्वकर्मा ने उपस्थित लोगों से सपा सरकार बनाने की अपील की। कहा कि सपा सरकार आने पर विश्वकर्मा पूजा के सार्वजनिक अवकाश को पुनः घोषित किया जायेगा। गरीब व भूमिहीन विश्वकर्मा को वर्कशाप के पट्टा का शासनादेश पुन: जारी किया जायेगा। इण्टर पास विश्वकर्मा समाज के लड़को को आईटीआई का प्रमाण पत्र का शासनादेश पुनः जारी किया जायेगा । श्री विश्वकर्मा ने कहा कि लखनऊ में गोमती नदी तट पर भगवान विश्वकर्मा का भव्य मन्दिर बनाया जायेगा। विश्वकर्मा समाज को उनकी जनसंख्या के अनुसार सरकारी योजनाओं तथा नौकरी, रोजगार, आरक्षण, राजनीति में भागीदारी दी जायेगी। विश्वकर्मा समाज के ऊपर हो रहे उत्पीड़न, अत्याचार व अपमान को रोका जायेगा तथा समाज का सम्मान बढ़ाया जायेगा। सामाजिक सुरक्षा की योजना पेंशन, आवास, छात्रवृत्ति, शादी अनुदान आदि के लिये मदद दी जायेगी। समाज के लिए नौकरी व रोजगार का अवसर बढ़ाया जायेगा।

बैठक में महासभा के संगठन का विस्तार करने तथा समाज के उत्पीड़न और अत्याचार की प्रभावी लड़ाई लड़ने का निर्णय लिया गया। इसके साथ ही निष्क्रिय पदाधिकारियों को हटाने तथा सक्रिय लोगों को संगठन में पदाधिकारी बनाने का भी निर्णय लिया गया। महासभा के पदाधिकारियों द्वारा तथा जिलों से आये कई जिला पदाधिकारियों ने राष्ट्रीय अध्यक्ष का स्वागत किया। वरिष्ठ पत्रकार प्रदीप विश्वकर्मा का भी महासभा की तरफ से स्वागत किया गया।

बैठक में मुख्य रूप से दर्जा प्राप्त पूर्व राज्यमन्त्री अच्छेलाल सोनी, महासभा के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष शिव शंकर वर्मा स्वर्णकार, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष इं0 विजेश शर्मा, राष्ट्रीय सचिव विश्वनाथ विश्वकर्मा, वरिष्ठ पत्रकार प्रदीप विश्वकर्मा, प्रदेश उपाध्यक्ष राम अवतार शर्मा, सूरजबली विश्वकर्मा, विश्वकर्मा ब्रिगेड के प्रदेश अध्यक्ष आशुतोष विश्वकर्मा, प्रदेश सचिव शिवकुमार विश्वकर्मा, दानकिशोर विश्वकर्मा, राम अवतार विश्वकर्मा, शंकर शर्मा बंटी नेता, राम प्रकाश विश्वकर्मा, अरुण कुमार सोनी, लल्लन शर्मा, महिला सभा की प्रदेश महासचिव शीला विश्वकर्मा, महेश चन्द्र विश्वकर्मा, मदनमोहन विश्वकर्मा, प्रेमनाथ विश्वकर्मा, रमेशचन्द शर्मा, सियाराम विश्वकर्मा, रामबाबू विश्वकर्मा, कपूरचन्द शर्मा, पुत्तीलाल विश्वकर्मा, रवीन्द्र विश्वकर्मा, डॉ0 डी0के0 विश्वकर्मा, साहबदीन विश्वकर्मा, डॉ0 ब्रिजेश विश्वकर्मा, यशपाल विश्वकर्मा, प्रभंजन विश्वकर्मा, राम निरंजन विश्वकर्मा, कैलाश शर्मा, शिवम ओझा, अमित कुमार विश्वकर्मा, जयशंकर विश्वकर्मा, विश्वकर्मा ब्रिगेड जिलाध्यक्ष जौनपुर शिवकुमार विश्वकर्मा, कानपुर देहात भारत शर्मा, बहराइच दिवाकर प्रताप विश्वकर्मा, लखीमपुर खीरी राजेन्द्र शर्मा, ललितपुर गौरव विश्वकर्मा, मिर्जापुर विजय विश्वकर्मा, फर्रुखाबाद राज शर्मा, कन्नौज प्रियांशु शर्मा, महिला जिलाध्यक्ष कन्नौज ममता शर्मा, नीलम शर्मा, रानी शर्मा, सुमन रानी विश्वकर्मा, के0पी0 विश्वकर्मा, मनबोधन विश्वकर्मा, सुरेश विश्वकर्मा, राजेश विश्वकर्मा, हरिनारायण विश्वकर्मा, अवधेश विश्वकर्मा, मनोज पांचाल, राम कुमार विश्वकर्मा, गुड्डू विश्वकर्मा, श्रीराम शर्मा, नन्द किशोर विश्वकर्मा, सूरज विश्वकर्मा, मोहित विश्वकर्मा, जगत नारायण विश्वकर्मा, अरुण विश्वकर्मा, राज विश्वकर्मा, प्रदीप विश्वकर्मा, सुशील विश्वकर्मा, सुनील विश्वकर्मा, रामू विश्वकर्मा, मुरारी विश्वकर्मा, सुभाष विश्वकर्मा, ओम प्रकाश विश्वकर्मा, अरुण कुमार सोनी, देवेश शर्मा, राहुल विश्वकर्मा, देवेन्द्र प्रताप सिंह स्वर्णकार, आर0एल0 विश्वकर्मा, मुकेश विश्वकर्मा, प्रदीप विश्वकर्मा झांसी, कल्लू विश्वकर्मा, वीरेंद्र कुमार शर्मा, रोहित विश्वकर्मा सहित कई जनपदों के पदाधिकारीगण उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *