जल्द ही शुरू होगा विश्वकर्मा समाज का स्वर्णिम काल- राष्ट्रसंत स्वामी शिवात्मानन्द सरस्वती

दिल्ली। वेद-वेदांताचार्य परमहंस परिवाजकाचार्य राष्ट्रसंत स्वामी शिवात्मानन्द सरस्वती जी, दांडी स्वामी, श्री ज्ञानन्दा आश्रम, सिद्धना गावी, नंदी, चिक्कबल्लपुर, बेंगलुरु के दशकों पूर्व से जारी प्रयास का प्रतिफल धीरे-धीरे देखने को मिल रहा है। स्वामी जी की मानें तो जल्द ही विश्वकर्मा समाज का स्वर्णिम काल शुरू होगा। स्वामी जी के निरंतर कई सालों के अथक प्रयासों से विश्वकर्मा समाज में जागृति व नई ऊर्जा का संचार हुआ है। स्वामी जी 13 से 16 मार्च 2021 तक दिल्ली प्रवास पर रहे। इस दौरान कई स्थानों पर उनका भव्य स्वागत, अभिनंदन व चरण वंदना कर अनेकों बंधुओ ने स्वामी जी से आशीर्वाद प्राप्त किया।

स्वामी जी दिल्ली प्रवास के अन्तिम दिन यानी 16 मार्च को राज्यसभा सांसद रामचन्द्र जांगड़ा के अनुरोध पर उनके आवास पर पधारे। यहां पर विश्वकर्मा समाज की एकता-अखण्डता और विकास के बारे में विस्तृत चर्चा की गई। साथ ही आगामी विश्वकर्मा पूजा 17 सितम्बर 2021 के अवसर पर दिल्ली में भव्य महासम्मेलन करने पर भी चर्चा हुई।

इस महासम्मेलन के लिये सांसद रामचन्द्र जांगड़ा पहले से ही प्रयासरत हैं। इस महासम्मेलन में देश के प्रधानमन्त्री बतौर मुख्य अतिथि सम्मिलित होंगे। यह एक अद्भुत क्षण था जब इस चर्चा में समाज के कुछ विशिष्ट लोगों के अलावा कई सांसदों ने भी भाग लिया।

स्वामी जी के साथ चर्चा में राज्यसभा सांसद रामचन्द्र जांगड़ा, राज्यसभा सांसद कैलाश सोनी, राज्यसभा सांसद डॉ0 रघुनाथ महापात्रा (पद्मश्री, पदमभूषण, पदमविभूषण से सम्मानित), राज्यसभा सांसद सुमेर सिंह सोलंकी, डॉ0 प्रमेन्द्र जांगड़ा (क्षेत्रीय उपाध्यक्ष, पश्चिम उत्तर प्रदेश, भाजपा), सुनील पांचाल (सदस्य, केंद्रीय प्रबंधन समिति, पिछड़ा वर्ग मोर्चा, भाजपा), विश्वकर्मा समाज के एनसाइक्लोपीडिया व भजन गायक वेद प्रकाश शर्मा, बी0के0 शर्मा (पश्चिम बंगाल), गौरीशंकर शर्मा (संस्थापक व राष्ट्रीय अध्यक्ष, लोक समाज पार्टी), सुमित जांगड़ा, होरीलाल शर्मा (राष्ट्रीय अध्यक्ष, विश्वकर्मा विकास समिति एवं राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, राष्ट्रीय सर्वजन विकास पार्टी), वरिष्ठ समाजसेवी हरीश शर्मा, सुभाष पांचाल, सुशील धन्वन्तरि उपस्थित रहे।

स्वामी जी ने सभी का आवाहन किया कि अब विश्वकर्मा समाज को एक होकर अपनी ताकत का प्रदर्शन जल्द से जल्द करना होगा। उपस्थित सभी बन्धुओं ने स्वामी जी से मार्गदर्शन करने की प्रार्थना की। स्वामी जी के दिल्ली प्रवास और सामाजिक परिचर्चा में वरिष्ठ समाजसेवी दिनेश कुमार वत्स ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। श्री वत्स ने राज्यसभा सांसद रामचन्द्र जांगड़ा के सहयोग से चर्चा में सम्मिलित सभी सांसदों व सामाजिक बन्धुओं को आमंत्रित करने व उन्हें लिवा आने में भी महती भूमिका अदा की।

1 thought on “जल्द ही शुरू होगा विश्वकर्मा समाज का स्वर्णिम काल- राष्ट्रसंत स्वामी शिवात्मानन्द सरस्वती

  1. Thanks to editor of Vishwakarma kiran in which unknown great personalities are viewed from all over India. Keep it up please.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *