कोई भी सामाजिक संस्था किसी की बपौती नहीं- हंसराज विश्वकर्मा

Spread the love

मुम्बई (गंगाराम विश्वकर्मा)। वाराणसी भाजपा जिलाध्यक्ष एवं विधान परिषद सदस्य हंसराज विश्वकर्मा ने कहा कि विश्वकर्मा समाज की संस्थाओं में जो एक बार अध्यक्ष बनता है वह हटना नहीं चाहता है, अध्यक्ष संस्था को अपनी बपौती समझने लगता है। सामाजिक संस्थाओं को अब इस प्रवृति से बचाने की जरुरत है।शासकीय दौरे पर मुंबई पहुंचे हंसराज विश्वकर्मा का सांताक्रुज, कालीना स्थित विश्वकर्मा समिति हॉल में विश्वकर्मा समाज की ओर से भव्य स्वागत किया गया।

स्वागत समारोह में श्री विश्वकर्मा ने कहा कि संस्थाओं में किसी एक या समूह के एकाधिकार से बगावत होती है और सामाजिक कार्य रुक जाता है। उन्होंने कहा कि बाबासाहेब आंबेडकर ने संविधान बनाया है, उसी संविधान से देश चलता है। देश का नेतृत्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू, इंदिरा गांधी, राजीव गांधी, मनमोहन सिंह, अटल बिहारी बाजपेयी आदि सभी ने किया। जब कोई नहीं रहता है तो भी देश चलता है। उन्होंने कहा कि संस्थाओं में 3 वर्ष या 5 वर्ष में चुनाव कराने का नियम है इसका पालन किया जाना चाहिए।

एमएलसी हंसराज विश्वकर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार बहुत ही सराहनीय कार्य कर रही है। अर्थव्यवस्था के मामले में हम दुनिया में 5वें नंबर पर हैं। अगर इसी तरह से हमारी विकास गति बढ़ती रही तो आगे चलकर हम अर्थव्यवस्था के मामले में तीसरे नंबर पर हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि भाजपा विकास व राष्ट्रवाद के मुद्दे पर ही चुनाव में उतरेगी और जनसमर्थन हासिल करेगी। उन्होंने कहा कि भाजपा जाति जनगणना नहीं बल्कि सबका साथ सबका विकास में विश्वास करती है। कहा कि बनारस में ढांचागत विकास के अगणित कार्य हुए जो अन्य राज्य सरकारों के लिए नजीर हैं।

इस अवसर पर राजेन्द्र विश्वकर्मा, एड. जे0पी0 शर्मा, सुनील राणा, दिनेशभाई शर्मा, बाबूलाल विश्वकर्मा, एड. अनिल विश्वकर्मा, लल्लूराम विश्वकर्मा, भाजपा ओबीसी मोर्चा मुंबई उपाध्यक्ष गंगाराम विश्वकर्मा, चंद्रकेश विश्वकर्मा, सुभाष विश्वकर्मा, डॉ. पन्नेलाल विश्वकर्मा, माखनलाल विश्वकर्मा, रमेश विश्वकर्मा, रामलाल विश्वकर्मा, वशिष्ठनारायण विश्वकर्मा, धनंजय विश्वकर्मा, राज विश्वकर्मा, रामकेवल विश्वकर्मा आदि सहित बड़ी संख्या में विश्वकर्मा समाजजन उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: