प्रत्येक भारतीय को एक नई शुरूआत की याद दिलाता है स्वतंत्रता दिवस

भारत का स्वतंत्रता दिवस हर वर्ष 15 अगस्‍त को देश भर में हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाता है। यह प्रत्येक भारतीय को एक नई शुरूआत की याद दिलाता है। इस दिन 200 वर्ष से अधिक समय तक ब्रिटिश उपनिवेशवाद के चंगुल से छूटकर एक नए युग की शुरूआत हुई थी। 15 अगस्त 1947 वह भाग्यशाली दिन था जब भारत को ब्रिटिश उपनिवेशवाद से स्वतंत्र घोषित किया गया और नियंत्रण की बागडोर देश के नेताओं को सौंप दी गई। भारत द्वारा आजादी पाना उसका भाग्य था, क्योंकि स्वतंत्रता संघर्ष काफी लम्बे समय चला और यह एक थका देने वाला अनुभव था, जिसमें अनेक स्वतंत्रता सेनानियों ने अपने जीवन कुर्बान कर दिए।

15 अगस्त 1947 को स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद जवाहर लाल नेहरु भारत के प्रथम प्रधानमंत्री बने जिन्होंने दिल्ली के लाल किले पर भारतीय झण्डा फहराने के बाद भारतीयों को संम्बोधित किया। इसी प्रथा को आने वाले दूसरे प्रधानमंत्रियों ने भी आगे बढ़ाया जहां झंडारोहण, परेड, तथा सांस्कृतिक कार्यक्रम आदि हर साल इसी दिन आयोजित होते हैं।  मगर इस बार संपूर्ण विश्व के साथ भारत भी कोरोनावायरस की चपेट में है जिससे कार्यक्रम में कुछ बाधाएं हो रही है।

15 अगस्त 1947 की मध्यरात्रि को अपने भाषण “’ट्रिस्ट वीद डेस्टिनी” के साथ पंडित जवाहर लाल नेहरु ने भारत की आजादी की घोषणा की। साथ ही उन्होंने अपने भाषण में कहा कि, वर्षों की गुलामी के बाद ये वो समय है जब हम अपना संकल्प निभाएंगे और अपने दुर्भाग्य का अंत करेंगे। भारत एक ऐसा देश है जहां करोड़ों लोग विभिन्न धर्म, परंपरा, और संस्कृति के एक साथ रहते हैं और स्वतंत्रता दिवस के इस उत्सव को पूरी खुशी के साथ मनाते हैं। इस दिन, भारतीय होने के नाते, हमें गर्व करना चाहिये और ये वादा करना चाहिये कि हम किसी भी प्रकार के आक्रमण या अपमान से अपनी मातृभूमि की रक्षा के लिये सदा देशभक्ति से पूर्णं और ईंमानदार रहेंगे।

भारत 2020 में 74वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। इस स्वतंत्रता दिवस पर कई जगह संस्कृति कार्यक्रम बाधित हो रहे हैं। बाधित होने का मुख्य कारण संपूर्ण विश्व में नोबेल कोरोना वायरस का कहर है। नोबेल कोरोनावायरस से बचने के लिए हम सबको सामाजिक / भौतिक दूरी का पालना करना अनिवार्य है, इसीलिए यह कार्यक्रम बाधित हो रही है। फिर भी हम सब सामाजिक भौतिक दूरी का पालन करते हुए जहां तक संभव हो वहां तक कार्यक्रम करेंगे। कार्यक्रम के दौरान मास्क अनिवार्य रूप से प्रयोग करेंगे।
“जय हिंद जय भारत”

लेखक- सत्यनारायण, छात्र स्नातकोत्तर विश्वविद्यालय राजनीति विज्ञान विभाग,
तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय, भागलपुर (बिहार)
ईमेल- satyanarayan0385@gmail.com
satynarayan1609@gmail.com
संपर्क नंबर – 8877211531, 6202576559

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *