रोजाना 65 जरूरतमन्दों को भोजन करा रहा अचल जागृति मिशन

मुम्बई। सामाजिक एवं काव्य संस्था अचल जागृति मिशन लॉक डाउन के दौरान 65 लोगों को प्रतिदिन भोजन करा रहा है। मिशन के संस्थापक श्याम अचल विश्वकर्मा ने लोगों से निवेदन किया है कि अगर आप सभी थोड़ा सा प्रयास करें तो ज्यादा से ज्यादा लोगों को भूख की पीड़ा से थोड़ी राहत दे सकते हैं। आप सभी अपने आसपास के जरूरतमन्द लोगों की सहायता कर सकते हैं, यह समझ कर कि परिवार में एक सदस्य ज्यादा है। अगर एक व्यक्ति प्रतिदिन मात्र एक व्यक्ति को खाना खिलाये तो यकीनन हम सभी कोरोना के साथ भूख की भी जंग जीत जायेगें।

मिशन की तरफ से प्रतिदिन कुल 65 जरूरतमन्दों को भोजन का बन्दोबस्त किया जाता है। पका-पकाया भोजन पैक करके श्याम अचल विश्वकर्मा व कान्तिलाल भाटी मैं अपनी स्कूटी पर रख कर (पूरी तरह सुरक्षित मास्क और ग्लब्स पहनकर) घूम-घूमकर जरूरतमन्द लोगों तक पहुचाते हैं। लॉक डाउन के बाद से ही यह क्रम लगातार चल रहा है। मिशन के संस्थापक श्याम अचल विश्वकर्मा ने इस परोपकारी कार्य में सभी लोगों से सहयोग की अपील किया है।

श्री विश्वकर्मा ने कहा कि लोगों को भोजन कराने के बाद उन्हें बहुत सुकून मिलता है। उन्होंने बताया कि इस पुण्यकारी कार्य में अरविन्द दूबे, अमित सुनेजा, सहयोगी संस्था- धूमिल जन सम्पर्क समिति, श्रीकान्त पाण्डेय, नरेश विश्वकर्मा, प्रीतम विश्वकर्मा, रवि तिवारी आदि लोगों विशेष सहयोग है। अलग-अलग दिनों में अलग-अलग लोग अपना योगदान दे रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *