भारत में प्रथम: स्वर्ण से सुसज्जित हुई डाकोर मन्दिर में स्थापित भगवान विश्वकर्मा की मूर्ति

डाकोर। भगवान विश्वकर्मा के प्रति बढ़े आस्था और मन्दिर ट्रस्ट कमेटी के संकल्प ने गुजरात के डाकोर में स्थित विश्वकर्मा मन्दिर में स्थापित भगवान विश्वकर्मा की मूर्ति को स्वर्ण से सुसज्जित कर दिया है। मूर्ति के साथ ही पूरे सिंहासन को स्वर्ण कवच से युक्त किया गया है। पूरे भारत में बने विश्वकर्मा मन्दिरों में डाकोर विश्वकर्मा मन्दिर पहला ऐसा मन्दिर है जहां भगवान की मूर्ति और उनका सिंहासन स्वर्ण जड़ित बनाया गया है। मन्दिर ट्रस्ट ने कुछ वर्ष पहले ही ऐसी कल्पना की थी जो पूरी हुई। मन्दिर में स्थापित मूर्ति और सिंहासन को स्वर्ण कवच में पिरोने के उपलक्ष्य में 2 जनवरी से 4 जनवरी तक कार्यक्रम भी आयोजित किया जा रहा है।
प्रथम दिन सम्पन्न हुये कार्यक्रम में राष्ट्रीय सन्त शिरोमणि शिवात्मा नन्द सरस्वती जी के सानिध्य में देश भर से पधारे सन्तगण व समाजसेवियों ने चल समारोह निकालकर कार्यक्रम का आगाज किया। सन्त शिवात्मा नन्द सरस्वती जी ने भगवान विश्वकर्मा की मूर्ति को स्वर्ण कवच पहनाये जाने पर मन्दिर कमेटी को बधाई देते हुये ट्रस्ट द्वारा किये जा रहे अन्य कार्यों की सराहना की। मन्दिर कमेटी के अध्यक्ष चन्द्र बदन मिस्त्री व भरत सुथार ने कार्यक्रम में पधारे सभी सन्तजनों व समाजसेवियों का ससम्मान आभार प्रकट किया और अपने कर्तव्यों के प्रति दृढ़ता व्यक्त की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *