विश्वकर्मा पूजा अवकाश के लिए सामूहिक मुंडन करा कर विश्वकर्मा समाज ने मनाया विरोध दिवस


वाराणसी। प्रदेश में बढ़ते हुए बेतहाशा अपराध लूट हत्या अपहरण बलात्कार की घटनाओं एवं भेदभाव के खिलाफ तथा विश्वकर्मा पूजा पर्व के सार्वजनिक अवकाश की मांग को लेकर ऑल इंडिया यूनाइटेड विश्वकर्मा शिल्पकार महासभा के तत्वावधान में चलाए जा रहे प्रदेश व्यापी विरोध के तहत पितृपक्ष के प्रथम दिवस की दोपहर में काशी के प्राचीन खिड़कियां घाट पर स्थित पंचमुखी विश्वकर्मा मंदिर पर विश्वकर्मा समाज के लोगों ने बड़ी संख्या में सामूहिक मुंडन संस्कार करा कर आक्रोश एवं विरोध व्यक्त किया। राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक कुमार विश्वकर्मा ने कहा कि सरकार सामाजिक न्याय हक और अधिकार की बात करने वाले शोषित वंचित उपेक्षित वर्ग के साथ ही सच दिखाने और बोलने वाले लोकतंत्र की आवाज पत्रकारों को भी तानाशाही और गुंडागर्दी के बल पर दबा रही है। उनकी हत्या की जा रही है निर्दोष लोगों को फर्जी और मनगढ़ंत मामलों में फंसा कर उत्पीड़न किया जा रहा है ।सरकार की हिटलर शाही से हर वर्ग त्रस्त है। मौजूदा सरकार में गरीब और कमजोर वर्ग के लोगों पर जुल्म अत्याचार भ्रष्टाचार एवं जातिवाद चरम पर है। सरकार झूठ बोलने और वादाखिलाफी करने वाले नेताओं की है।

उन्होंने कहा योगी जी ने सार्वजनिक रूप से भगवान विश्वकर्मा के जीवन चरित् को शैक्षणिक पाठ्यक्रमों में शामिल करने का घोषणा की थी किंतु तीन शैक्षणिक सत्र बीत जाने के बाद भी उन्होंने अपना वादा पूरा नहीं किया अपितु विश्वकर्मा पूजा पर्व अवकाश को रद्द करके एवं उन्हें महापुरुष कहकर करोड़ों लोगों की आस्था स्वाभिमान परंपरा और पहचान पर आघात किया है। उन्होंने बताया की सार्वजनिक अवकाश की मांग को लेकर महासभा कीअपील पर देशभर से माननीय मुख्यमंत्री जी को एक लाख पोस्टकार्ड भेजने का अभियान चलाया गया जिसे अनदेखी करके उन्होंने विश्वकर्मा समाज को स्वाभिमान के लिए आंदोलन को मजबूर किया है। नेताओं ने विश्वकर्मा पूजा पर्व के सार्वजनिक अवकाश होने तक अनवरत आंदोलन चलाने का निर्णय किया है।

कार्यक्रम में प्रमुख रुप से नंदलाल विश्वकर्मा जिला अध्यक्ष वाराणसी श्रीकांत विश्वकर्मा जिला अध्यक्ष चंदौली डॉ प्रमोद विश्वकर्मा जिला अध्यक्ष मिर्जापुर सुरेश विश्वकर्मा एडवोकेट जिला अध्यक्ष लीगल सेल वाराणसी भैरव विश्वकर्मा नगर अध्यक्ष वाराणसी रमेश विश्वकर्मा सदस्य कोर कमेटी लोचन विश्वकर्मा सुरेश विश्वकर्मा रामकिशुन विश्वकर्मा दीनदयाल विश्वकर्मा सुभाष विश्वकर्मा श्याम बिहारी विश्वकर्मा कालिका विश्वकर्मा राहुल विश्वकर्मा महेंद्र विश्वकर्मा राजेंद्र विश्वकर्मा भरत विश्व राधेश्याम विश्वकर्मा लक्ष्मण जी विश्वकर्मा राजकुमार विश्वकर्मा भीम विश्वकर्मा मनोज विश्वकर्म आशीष विश्वकर्मा मोहित विश्वकर्मा गोविंद विश्वकर्मा विजयलक्ष्मी विश्वकर्मा जीउत विश्वकर्मा आनंद विश्वकर्म अजय विश्वकर्मा रोशन विश्वकर्मा सिद्धार्थ विश्वकर्मा श्यामसुंदर विश्वकर्मा अमित विश्वकर्मा बबलू विश्वकर्मा रिंकू विश्वकर्मा चंद्रशेखर विश्वकर्मा दिनेश विश्वकर्मा संजय बागी सहित बड़ी संख्या में लोग शामिल थे।

1 thought on “विश्वकर्मा पूजा अवकाश के लिए सामूहिक मुंडन करा कर विश्वकर्मा समाज ने मनाया विरोध दिवस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *