शहीदों को श्रद्धांजलि के बीच विश्वकर्मा जयन्ती पर निकली सद्भावना अभियान रैली

नाशिक। प्रभु विश्वकर्मा प्रकटोत्सव (माघ शुक्ल पक्ष त्रयोदशी) के शुभ अवसर पर श्री विश्वकर्मा चैरिटेबल ट्रस्ट (रेड ब्रिगेड ) नाशिक द्वारा प्रति वर्ष की भांति इस वर्ष भी सद्भावना अभियान रैली का आयोजन किया गया था, लेकिन जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले में शहीद हुए भारत के वीर सपूतों को अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि देते हुए इस रैली को संपन्न किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत रेड ब्रिगेड के सभी सदस्यों एवं स्थानीय प्रशासन के लोगों द्वारा शहीद जवानों को याद करते हुए मौन धारण के साथ हुआ। उपस्थित सभी लोगों ने शहीद जवानों और उनके परिवारों के प्रति गहरी संवेदना प्रकट की और ये संकल्प लिया कि, जरूरत पड़ने पर हमारा समाज भी पीछे नहीं रहेगा। तत्पश्चात प्रभु विश्वकर्मा जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण व पूजा अर्चना कर रैली की शुरुआत नाशिक कार्यालय कालानगर से हुई।


रैली पाथर्डी गांव से होते हुए निकली तो पाथर्डी फाटा पर स्वप्निल देवरे व उपस्थित समाज बंधुओं ने रैली का भब्य स्वागत किया। अम्बड़ गांव से होते हुए रैली लिंक रोड पर पहुंची जहां पर बैजनाथ शर्मा व समाज बंधुओं ने रैली में सम्मिलित सभी को रसपान करवाया और शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पण किया।
रैली धीरे—धीरे अशोक नगर, धुव्र नगर, गंगापुर रोड से होते हुए फुले नगर (पेठरोड) पर पहुंची, जहां पर मंगेश क्षीरसागर के साथ समाज बंधुओं ने बहुत ही जोरदार तरीके से ढ़ोल—बाजे के साथ स्वागत किया। भगवान श्री विश्वकर्मा जी की प्रतिमा पूजन के पश्चात शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पण किया।


पुरातन विश्वकर्मा मंदिर सोमवार पेठ में पालकी पूजन करते हुए जांगिड़ भवन पहुंच कर “भारत माता की जय, वन्दे मातरम” का नारा लगाते हुए विश्वकर्मा कालोनी पंचक, भगवान श्री विश्वकर्मा मंदिर में पूजन किया गया, व भण्डारे का आनंद उठाया गया। यहां पर डॉ0 संदीप सुतार के मार्गदर्शन में चिकित्सा शिविर का भी आयोजन किया गया था, जिसमे समाज बंधुओं ने चेकअप कराया। यहीं पर रैली का समापन किया गया।


रैली में शामिल सभी रेडब्रिगेड व समाज बंधुओं का श्याम विश्वकर्मा ने आभार व्यक्त किया और समाज को एकजुट रहने का आवाहन किया। रेड ब्रिगेड नाशिक अध्यक्ष अशोक विश्वकर्मा ने सभी को बधाई दिया। रैली में शामिल होने के लिए मुम्बई से आये अनिल विश्वकर्मा ने पूरे रैली को अपने कैमरे में कैद किया।


रैली में प्रदीप विश्वकर्मा (उपाध्यक्ष), सुभाष विश्वकर्मा (सचिव), अरविंद विश्वकर्मा (कोषाध्यक्ष), नंदकिशोर विश्वकर्मा (ट्रष्टी), राजेन्द्र विश्वकर्मा, प्रवीण शर्मा, राम वर्मा, रविन्द्र विश्वकर्मा, रमाशंकर विश्वकर्मा, विनोद विश्वकर्मा, संतोष विश्वकर्मा (पिंटू), शिव कुमार विश्वकर्मा, हरिश्चंद्र विश्वकर्मा, बेचूलाल विश्वकर्मा, धरम विश्वकर्मा, अर्जुन विश्वकर्मा, श्यामलाल विश्वकर्मा, रामावतार विश्वकर्मा, रामराज विश्वकर्मा, बबलू विश्वकर्मा, सुनील विश्वकर्मा, संतोष विश्वकर्मा, अमरीश विश्वकर्मा, महेश विश्वकर्मा, प्रेमचंद विश्वकर्मा, अनिल पटेल, अरविंद विश्वकर्मा (पुल्ली), दिनेश विश्वकर्मा (लल्ले), भुवाल विश्वकर्मा, भाई लाल विश्वकर्मा, करण विश्वकर्मा, अवधेश विश्वकर्मा, संजय विश्वकर्मा (वाराणसी), दीपक विश्वकर्मा, महेंद्र विश्वकर्मा, प्रशांत कासार, अनिल चौहान, ओमप्रकाश विश्वकर्मा, ओमप्रकाश पाल, अमित कुमार विश्वकर्मा, संतोष विश्वकर्मा, सुरजलाल विश्वकर्मा, राजेंद्र भालेराव, रविंद्र कदम उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *