मऊ के अमिला में आयोजित हुआ विश्वकर्मा महोत्सव

मऊ। पूर्वांचल के मऊ जिले में भी श्री विश्वकर्मा महोत्सव का आयोजन किया गया। मऊ जिले के अमिला बाजार में आयोजित श्री विश्वकर्मा महोत्सव में जिले के लोगों ने बढ़ चढ़कर भाग लिया। महोत्सव के मुख्य अतिथि वरिष्ठ समाजसेवी व कई पुस्तकों के प्रकाशक इं0 रामनयन शर्मा रहे।
श्री शर्मा ने महोत्सव को सम्बोधित करते हुये कहा कि वर्तमान परिस्थिति में विश्वकर्मा समाज की एकता की महती आवश्यकता है। जब तक समाज संगठित नहीं होगा, कुछ हासिल नहीं हो सकता। कहा कि समाज में जागरूकता तो बहुत है परन्तु उस जागरूकता का सदुपयोग नहीं हो पा रहा है।


महोत्सव के संयोजक हाईकोर्ट इलाहाबाद के अधिवक्ता राजेश विश्वकर्मा ने कहा कि हम सभी को इं0 रामनयन शर्मा जैसे लोगों से प्रेरणा लेनी चाहिये। श्री शर्मा अपने जीवनकाल में बहुत से सामाजिक संगठनों से जुड़कर कार्य करते रहे। उन्होंने कई पुस्तकें लिखी जिसमें भगवान विश्वकर्मा पर लिखी गई पुस्तक ऐतिहासिक है। उम्र की परवाह किये बिना आज भी समाज के लिये इनकी तत्परता हम लोगों के अन्दर जोश पैदा करती है। सभी लोग संगठित हों तभी जाकर समाजहित में कुछ हो सकता है।
विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित उप श्रम आयुक्त आज़मगढ़ रोशनलाल, श्यामा प्रसाद शर्मा, विश्वनाथ विश्वकर्मा, कवि व गीतकार संजय पाण्डेय ने भी अपने विचार प्रकट किये।
इस अवसर पर सुनील विश्वकर्मा, रंजीत विश्वकर्मा, विकास शर्मा, प्रभात, बृजेश विश्वकर्मा, डॉ0 विकेन्द्र विश्वकर्मा, राममिलन विश्वकर्मा, सूबेदार विश्वकर्मा, रामधन विश्वकर्मा, नन्दकिशोर विश्वकर्मा, राजन विश्वकर्मा, नगीना विश्वकर्मा, राकेश विश्वकर्मा, शशिचन्द विश्वकर्मा, मनीष विश्वकर्मा सहित सैकड़ों की संख्या में लोग उपस्थित रहे।
महोत्सव की अध्यक्षता सेवानिवृत्त अध्यापक रामूराम विश्वकर्मा तथा संचालन छविश्याम शर्मा ने किया।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*