आकांक्षा विश्वकर्मा ने जीता मिस छत्तीसगढ़ का खिताब

जगदलपुर। माओवादी गतिविधियों के लिए पहचाने जाने वाले बस्तर से अब देश को नए सितारे मिल रहे हैं। उस बस्तर का नाम देश में रोशन हो रहा है, जहां लोग जाने से भी डरते हैं। बस्तर से अब ऐसे हीरे निकलने लगे हैं, जो अब देश में अपना नाम रोशन करने में सफल हो रहे हैं। बस्तर की बेटियां भी डॉक्टर, पायलट, कलेक्टर, पर्वतारोही बनकर निकल रही हैं।
बस्तर की बेटी आकांक्षा विश्वकर्मा ने भी अपने प्रदेश का नाम रोशन किया। उन्होंने अपनी काबिलियत के दम पर बड़े शहरों की बेटियों को टक्कर देकर यह साबित कर दिया कि जब इरादे मजबूत हों तो आपको कोई भी सफलता से दूर नहीं रख सकता है। आकांक्षा विश्वकर्मा ने पहले मिस छत्तीसगढ़ में भाग लिया और प्रथम स्थान हासिल किया, वहीं अब वे देश में भी नया चेहरा बनकर उभरी हैं।
22 वर्षीय आकांक्षा विश्वकर्मा प्रतापदेव वार्ड निवासी अधिवक्ता आनंद एवं बिंदु विश्वकर्मा की बेटी है। उन्होंने बीआईटी दुर्ग से इंजीनियरिंग में स्नातक की डिग्री हासिल की है। बस्तर में जब यह बात फैली कि आकांक्षा मिस छत्तीसगढ़ चुनी गई हैं और मिस इंडिया बनने के लिए जा रही हैं तो लोगों के मन में बस्तर के लिए एक और आशा ने जन्म लिया। हुनर, लोगों की उम्मीद, खुद पर भरोसा और परिवार के साथ के कारण आकांक्षा ने मिस इंडिया के फाइनल में तीसरा स्थान हासिल किया। इस उपलब्धि से सिर्फ उनके परिजन ही नहीं बल्कि पूरा प्रदेश खुश है।
आकांक्षा ने अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता को दिया और कहा कि उन्होंने कभी भी बेटा और बेटी के बीच भेदभाव नहीं किया और हमेशा हमें पढ़ने और आगे बढ़ने का अवसर प्रदान किया। आकांक्षा अब फैशन की दुनिया में नाम कमाकर छत्तीसगढ़ और बस्तर का नाम पूरी दुनिया में रोशन करना चाहती हैं। उन्होंने रेग पिकर्स की फिल्म में भी काम किया है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*