सूरत के भेस्तान शहर में बना भव्य विश्वकर्मा मन्दिर, मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा सम्पन्न

Spread the love

सूरत। देश की आर्थिक राजधानी मुम्बई व उससे सटे प्रदेश गुजरात में निर्मित विश्वकर्मा मन्दिरों में सूरत के भेस्तान शहर में बने भव्य विश्वकर्मा मन्दिर का नाम भी शुमार हो गया है। इस मन्दिर की भव्यता देखने लायक है।


22 जून 2018 को सूरत के भगवती नगर इण्डस्ट्रियल इस्टेट भेस्तान शहर में विश्वकर्मा सेवा समिति, सूरत द्वारा निर्मित भगवान विश्वकर्मा के भव्य मदिर में भगवान विश्वकर्मा की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा बड़े ही धूमधाम से कराई गई। साथ ही हनुमान जी की भी मूर्ति स्थापित की गई। प्राण प्रतिष्ठा का कार्यक्रम अनवरत पांच दिन यानी 18 जून से 22 जून तक चला। पांचवे दिन मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा सम्पन्न हुई। 18 जून से लगातार कलश यात्रा, मूर्ति जलाधिवास, मूर्ति अन्नाधिवास, मूर्ति पुष्पाधीवास कार्यक्रम चलता रहा।


मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा समारोह में प्रसिद्ध विश्वकर्मा कथावाचक जयन्ती भाई शास्त्री व विश्वकर्मा भजनों की भण्डार पूनम विश्वकर्मा ने सभी अतिथियों और आगन्तुकों का मन मोहा। कार्यक्रम में सैकड़ों महिला—पुरुष उपस्थित होकर भगवान् का कथा सुनने के बाद महाप्रसाद भी ग्रहण किया। इस भव्य मन्दिर स्थापना के संकल्पकर्ता एवं मुख्य कार्यकर्ता राम प्रताप बद्रीप्रसाद विश्वकर्मा की पांच वर्ष पूर्व की सौगन्ध 22 जून को मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा के साथ साकार हुआ। इस अवसर पर विभिन्न समाजसेवियों और प्रतिभाओं को सम्मानित भी किया गया।
इस कार्यक्रम के मुख्य संयोजक अजय शर्मा (श्री विश्वकर्मा इंजीनियरिंग सूरत) रहें हैं। मंदिर के लिये भूमिदाता धनसुख भाई भगवती प्रसाद राजपूत हैं। मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा के विशेष दान सहभागी अभिमन्यु सिंह राजपूत हैं।


भगवान विश्वकर्मा मन्दिर में मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा के इस अवसर पर सर्वश्री दिनेश विश्वकर्मा संस्था अध्यक्ष, सह संयोजक मनोज शर्मा विश्वकर्मा, राम प्रताप विश्वकर्मा, चंद्रशेखर विश्वकर्मा, राजेश विश्वकर्मा, समाजसेवी अनिल एस0 विश्वकर्मा मुम्बई, उद्यमी एवं समाजसेवी मुकेश शर्मा मुम्बई, विजय आर0 मिस्त्री सूरत, पत्रकार नीतू विश्वकर्मा, वीरेन्द्र विश्वकर्मा, अजीत सिंह, दिलीप पाठक, हसमुख विश्वकर्मा, अजित शर्मा, मनीष शर्मा, पंकज शर्मा, वसन्त शर्मा सूरत, रामेश्वर भाई विश्वकर्मा सूरत, लालबहादुर, हरिनाथ, रामकुमार, जवाहरलाल, अभयराज, शम्भूनाथ सहित सैकड़ों लोगों की गरिमामयी उपस्थिति रही। कार्यक्रम में दूसरे राज्यों से भी विश्वकर्मा बंधु पधारकर कार्यक्रम को सफल बनाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *