आपने नहीं देखा होगा नन्दू विश्वकर्मा जितना लम्बा आदमी

छतरपुर। वाकई आपने शायद ही इतना लम्बा आदमी कभी देखा हो। मप्र के छतरपुर जिले के बड़ामलहरा ब्लॉक की घुवारा तहसील के मड़ीखेरा गांव निवासी ‘बुंदेलखंड के खली’ नाम से मशहूर नन्दू विश्वकर्मा के बारे में जानकर चौंकना लाजमी है, क्योंकि असली ‘खली’ को तो सभी जान गये और उसे प्रसिद्धि भी मिल गई पर ‘बुंदेलखंड के खली’ को कोई जान ही नहीं पाया। यह अभी तक गुमनामी में ही जी रहे हैं। कारण कि असली खली पहलवान निकले और ‘बुंदेलखंड के खली’ राजमिस्त्री।
उम्र 33 साल, कद 7 फीट 2 इंच से ज्यादा और वजन लगभग 120 किलो, यह हैं ‘बुंदेलखंड के खली’, मगर इन्हें इस खूबी के बावजूद ‘द ग्रेट खली’ की तरह कामयाबी नहीं मिली। ‘बुंदेलखंड के खली’ छतरपुर जिले के बड़ामलहरा ब्लॉक की घुवारा तहसील के मड़ीखेरा गांव के निवासी सरजू विश्वकर्मा के दूसरे नम्बर के पुत्र हैं।
जानिए इस खली की खूबियां—
-महाबली खली की तरह दिखने वाले नन्दू विश्वकर्मा मकान निर्माण में राजमिस्त्री का काम कर अपने परिवार का भरण पोषण करते हैं।
 -सरजू विश्वकर्मा के दूसरे नंबर के पुत्र नन्दू का कहना है कि 12 साल की उम्र से उसकी लम्बाई अचानक बढ़ी और 20 साल की उम्र में वह 7 फीट से ऊपर पहुंच गई। बेतहाशा लम्बाई हो जाने के साथ उसके पैर के पंजे एक फीट एक इंच लंबे हैं, उसे जूते स्पेशल रूप से बनवाने पड़ते हैं।
-नन्दू के मुताबिक, उसकी हथेली 11 इंच की है। नन्दू की खुराक भी अधिक है, वह दिन में 2 किलो आटा की रोटियां खा जाते हैं। इतनी ही सब्जी उसकी भूख मिटाने के लिए लगती है।
टीवी के पर्दे पर आना ख्वाहिश—
नन्दू कहता है कि जब लोग कहते हैं कि वह ‘द ग्रेट खली’ की तरह दिखता है, तो सुनकर अच्छा लगता है। उसने खली को फोटो सहित पत्र लिखकर मिलने की इच्छा जाहिर की थी, लेकिन अभी तक कोई जवाब नहीं आया। बकौल नंदू उसकी ख्वाहिश है कि एक दिन उसे टीवी के पर्दे पर दिखाया जाय। वह टीवी पर आना चाहता है।
मुश्किल से हो पाई नन्दू की शादी—
नन्दू का कहना है कि लम्बाई व असामान्य कद—काठी के चलते वह शादी के लिए काफी परेशान था। काफी प्रयास करने के बाद कोई लड़की वाला उसकी शादी करने को तैयार नहीं था। इस पर वह चार साल पहले दिल्ली से उड़ीसा गया। वहां सामान्य कदकाठी की समंत्रा देवी नाम की लड़की उससे शादी करने को तैयार हो गई। समंत्रा से विवाह कर नन्दू काफी खुश है, उसको एक 3 साल की बेटी रामदेवी है, जो अन्य सामान्य बच्चों की तरह ही है।

3 Comments

  1. चिचोली मध्यप्रदेश की खबर लोगो क्या
    सुरेंद्र बावने विश्वकर्मा चिचोली बैतूल मध्यप्रदेश

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*