रेल राज्यमन्त्री मनोज सिन्हा व विजय विश्वकर्मा के प्रयास से स्वदेश लौटा युवक

गाजीपुर। रेल राज्यमन्त्री मनोज सिन्हा व सामाजिक कार्यकर्ता विजय विश्वकर्मा के प्रयास से गाजीपुर का युवक वसीम अकरम स्वदेश लौट सका। इस युवक की वापसी के लिये विजय विश्वकर्मा ने प्रयास शूरू किया तो रेल राज्यमन्त्री मनोज सिन्हा ने उस प्रयास में पर लगाने का काम किया। बात विदेश मन्त्री सुषमा स्वराज तक पहुंची तो युवक अपने घर वापस आ सका।
मामला गाजीपुर जिले के करण्डा थानाक्षेत्र के पहाड़पुर कला गांव का है। गांव के बेरोजगार युवक वसीम अकरम को उसके एक रिश्तेदार ने कुछ महीने पूर्व लालच दिया और कहा कि उसकी अबूधाबी में अच्छी पकड़ है, वहां पर उसकी नौकरी लगवा देगा। इसके बाद वसीम रिश्तेदार पर भरोसा कर 26 जुर्ला, 2017 को अबूधाबी चला गया। जहां पर उसका पासपोर्ट लेकर उसे मजदूरी के काम में लगा दिया गया। जब 12—14 घण्टे हाड़तोड़ मेहनत के बाद भी पर्याप्त रकम नहीं मिली तो उसने अपने रिश्तेदार से शिकायत की। रिश्तेदार ने उसे धमकाते हुए कहा कि जो काम कर रहे हो उसे चुपचाप करो, वरना वहां से उसकी लाश ही घर वापस जायेगी।
इसके बाद खुद को फंसा जानकर वसीम अकरम ने इसकी जानकारी अपने पिता रियाजुद्दीन को दी। इस बात की जानकारी स्थानीय सामाजिक कार्यकर्ता विजय विश्वकर्मा को हुई तो वह स्वयं विदेश मन्त्री को पत्र लिखने के साथ ही युवक के पिता रिजवान को साथ लिवाकर रेल राज्यमंत्री से मुलाकात करने गये। मन्त्री के निजी सहायक सिद्धार्थ राय ने पूरा मामला जानने के बाद मन्त्री से मुलाकात कराई जहां रियाजुद्दीन ने वसीम के घर वापसी की गुहार लगाई। मामला गम्भीर जान रेल राज्यमंत्री ने तत्काल इस मामले में व्यक्तिगत रुचि लेते हुए पूरी घटना की जानकारी विदेश मन्त्री सुषमा स्वराज को दी। इसके बाद विदेश मन्त्रालय ने इस मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए अबूधाबी सरकार से वार्ता की जिसके बाद अबूधाबी सरकार द्वारा मामले की पड़ताल की गई। मामला सही पाये जाने के बाद वसीम को तुरन्त उसके देश भेजने की व्यवस्था करने का इंतजाम किया गया।
अपने बेटे को सही सलामत देख पिता रियाजुद्दीन की आंखें भर आईं। पिता पुत्र एकसाथ रेल राज्यमन्त्री के कार्यालय भी पहुंचे लेकिन मन्त्री से मुलाकात न होने पर उन्होंने उनके प्रतिनिधि को धन्यवाद कहा और लोगों को मिठाई खिलाकर मुंह मीठा कराया। रियाजुद्दीन ने कहा कि सरकार की नेक मंशा के कारण उनका बेटा आज उनके साथ है। इस अवसर पर भाजपा जिलाध्यक्ष भानुप्रताप सिंह, मनोज सिन्हा के प्रतिनिधि सिद्धार्थ राय, भाजपा मीडिया प्रभारी शशिकान्त शर्मा आदि मौजूद रहे।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*