जांगिड़ समाज के सामूहिक विवाह में दस जोड़े बने जीवनसाथी

Spread the love

जोधपुर। श्री विश्वकर्मा जांगिड़ पंचायत जोधपुर की ओर से आयोजित 12वें सामूहिक विवाह समारोह में नव जोड़ों को कन्या भ्रूण हत्या नहीं करने की शपथ दिलाई गई। समारोह के दौरान परिणय सूत्र में बंधे 10 जोड़ों को समाज की ओर से बेटी बचाओ—बेटी पढ़ाओ का भी संदेश दिया गया। पंचायत भवन शास्त्री नगर में आयोजित इस सामूहिक विवाह समारोह की अध्यक्षता सत्यनारायण कुलरिया ने किया। मुख्य अतिथि कैलाशचन्द पिडियारिया, संयोजक पूनाराम बरनेला व एम0डी0 शर्मा के संयोजन में 10 जोड़े हमसफर बने।


पंचायत सचिव डॉ0 कमल आसदेव और प्रवक्ता भारत भूषण शर्मा ने बताया कि सत्यनारायण कुलरिया की अध्यक्षता में आयोजित कार्यक्रम में कैलाशचंद पिडियारिया ने बेटी बचाओ—बेटी पढ़ाओ का संदेश दिया। शंकरलाल जांगिड़ ने समाज में कन्याओं को सर्वोच्च स्थान देने की बात कही। इससे पूर्व मांगलिक कार्यक्रम के साथ गणेश पूजन एवं झण्डारोहण के बाद समाज के छात्रावास से बैण्डबाजाें के साथ विवाह स्थल के लिए बारात रवाना हुई और शास्त्रीनगर स्थित पंचायत भवन पहुंची। जहां स्वागत सत्कार करने के बाद विवाह संस्कार सम्पन्न हुआ।
कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए स्वागत समिति, भोजन व्यवस्था समिति, पाणिग्रहण समिति, महिला समिति, संचालन समिति और समाज की 15 उप संस्थाओं ने सहयोग किया। इस अवसर पर ईश्वर मांकड़, महेश मांकड़, मदन रावल व गजेंद्र बरड़वा को सम्मानित किया गया।


बेटी बचाओ—बेटी पढ़ाओ का सन्देश—
वैवाहिक कार्यक्रम के प्रारम्भ में मुख्य अतिथि कैलाशचन्द पिडियारिया ने बेटी बचाओ—बेटी पढ़ाओ का सन्देश दिया तथा कन्हैयालाल जांगिड़ ने सामूहिक विवाह में मितव्ययता एवं सौहार्दपूर्ण वातावरण पर जोर दिया। शंकरलाल जांगिड़ ने विधि पर प्रकाश डाला। ताराचंद ने समाज की एकता की सराहना के साथ सामूहिक विवाह पर बल दिया। भारत भूषण शर्मा ने अपने सम्बोधन में कन्या भ्रूण हत्या रोकने के लिये नव वर—वधू को शपथ दिलाई तथा महिलाओं एवं छात्राओं की महत्ता पर बल दिया। डा0 कमलदेव आसदेव ने कन्याओं को नारीशक्ति बताते हुये समाज में उनका सर्वोच्च स्थान बताते हुये तन—मन—धन से सहयोग करने की समाज से अपील की।

इनका हुआ सम्मान—
कार्यक्रम में उत्कृष्ट सेवाओं के लिये ईश्वर माकड़, महेश माकड़, मदन रावल, राजेन्द्र बरड़वा, विश्वकर्मा टुडे के पत्रकार हरीराम जांगिड सहित समाज के लगभग 31 बुजुर्गो, 50 युवाओं एवं 21 महिलाओं तथा अन्य अतिथियों को सम्मानित किया गया।
यह रहे उपस्थित—
कार्यक्रम को सफल बनाने के लिये हीरालाल, आसदेव, लक्ष्मण छड़िया, फतेहराज माकड़, मदनगोपाल बरड़वा, एन0के0 दायमा, सोहन साड़, दिलीप छड़िया, ज्योति प्रकाश, सम्पतराज कुलरिया, ओमप्रकाश भूदड़, अर्जुन भूदड़, महेश धामू, नीरज शर्मा, मदन जोपिंग, यशवंत जोपिंग, लक्ष्मीकांत शर्मा, नरेश शर्मा, डी0पी0 शर्मा, शंकर माकड़ तथा महिला समिति की मीना जांगिड़, निर्मला जांगिड़, सुनीता बरड़वा, आशा शर्मा, स्नेहलता दम्मीवाल, मीनाक्षी आदि ने उपस्थित रहकर सक्रिय सहयोग किया।
कार्यक्रम में सत्यनारायण कुलरिया तथा महापौर घनश्याम ओझा ने नव दंपतियों को स्वच्छता का संदेश देने के साथ हेलमेट भी दिए।

2 thoughts on “जांगिड़ समाज के सामूहिक विवाह में दस जोड़े बने जीवनसाथी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *