सहायक लोको पायलट सौरभ विश्वकर्मा ने अपनी जान गंवाकर बचाई हजारों की जान

नागपुर। बीते दिनों मुम्बई जा रही एक ट्रेन के इंजन में धमानगांव में आग लग गई और इस आग को बुझाने की कोशिश करने के दौरान एक सहायक चालक की मौत हो गई।
रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि हावड़ा-मुम्बई सीएसएमटी ट्रेन के इंजन में शाम चार बजकर 57 मिनट पर आग लगने से सहायक चालक एस0के0 विश्वकर्मा की मौत हो गई।
सहायक वाणिज्यिक प्रबंधक (नागपुर रेलवे खण्ड, मध्य रेलवे) एस0जी0 राव के अनुसार, इंजन में आग लगने की वजह से आपातकालीन ब्रेक लगाकर ट्रेन को तालनी और धमानगांव में रोका गया।
ट्रेन के सहायक चालक एस0के0 विश्वकर्मा और चालक डी0एल0 ब्राह्मे ने अग्निशामक के जरिए आग बुझाने की पूरी कोशिश की। ट्रेन के यात्रियों की जान बचाने की इस कोशिश में एस0के0 विश्वकर्मा की जान चली गई। अधिकारी ने बताया कि ट्रेन के चालकों ने बहादुरीपूर्ण तरीके से स्थिति को संभाला, वर्ना बड़ा हादसा हो सकता था।

7 Comments

  1. जय श्री विश्वकर्मा हमने सिर्फ सजन करना सीखा है विनाश नहीं हम केवल सृजन ही करें

    • *****जय जय श्री बिश्वकर्मा भगवान ***** गर्व से लिखो कि हम बिश्वकर्मा है

  2. *सौरभ विश्वकर्मा — यांनी दिली देशसेवेसाठी आपल्या प्राणांची आहुती*
    *****
    रेल्वे सहाय्यक चालक — सौरभ के.विश्वकर्मा — यांनी आपल्या प्राणांची पर्वा न करता आग लागलेल्या इंजिनला थांबविण्यासाठी यशस्वी प्रयत्न केले‌त.
    यामुळे रेल्वेने प्रवास करणाऱ्या हजारो लोकांचे प्राण वाचवले व तसेच पुढे होणारा मोठा अनर्थ टळला किंवा दुर्घटना टाळता आली.

    परंतु या प्रसंगी सौरभ विश्वकर्मा यांना आपले प्राण गमवावे लागले, हि अतिशय दु:खद घटना आहे.

    सौरभ विश्वकर्मा यांनी देशसेवेसाठी आपले प्राण अर्पण केले आहे, त्यामुळे त्यांना भावपूर्ण श्रद्धांजली आणि सन्मानपूर्वक जयहिंद ???
    ~ संजय भालेराव ©

  3. ***जय जय श्री बिश्वकर्मा भगवान * गर्व से लिखो कि हम बिश्वकर्मा है ?

    • ***जय जय श्री बिश्वकर्मा भगवान * गर्व से लिखो कि हम बिश्वकर्मा

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*