एक परिचय— अदाकारा ऊषा विश्वकर्मा

टुनटुन बनकर लोगों को हंसाने वाली ऊषा विश्वकर्मा छत्तीसगढ़ी फिल्मों की जानी-मानी अदाकारा हैं। वह इन दिनों अपनी आगामी 11 फिल्मों के रिलीज होने का बेसब्री से इंतजार कर रही हैं। अब तक उषा ने तमाम तरह के किरदार परदे पर किए हैं। कुल 24 फिल्में आ चुकी हैं। ज्यादातर में उन्होंने मां का किरदार किया, लेकिन कॉमेडी में भी वे कम नहीं हैं। उषा का एक सपना अब भी बाकी है, वो ये कि हिंदी फिल्म उमराव जान में अभिनेत्री रेखा ने जो भूमिका की थी, वही ऊषा का ड्रीम रोल है।
आपको पता होगा कि ऊषा सिर्फ एक्टिंग नहीं करतीं, बल्कि डांस और सिंगिंग में भी वे उतना ही पकड़ रखती हैं। मंचों पर जब वे पेश होती हैं, परदे वाली ऊषा से हटकर एक अलग ही परफारमर के रूप में भी वे खुद को कामयाब तरीके से पेश करती हैं।
उषा कहती हैं, छत्तीसगढ़ी फिल्म राजा छत्तीसगढ़िया में टुनटुन का कॉमिक किरदार उनके लिए अब तक बेहद यादगार किरदार है। लेकिन, सपना तो अब भी बाकी है। वह तभी पूरा होगा, जब कोई उमराव जान जैसी फिल्म बनाएगा और रेखा जैसी भूमिका उन्हें देगा।
वैसे देखा जाए, तो बाकी कलाकारों की बजाय ऊषा के पास कभी फिल्मों की कमी नहीं रही। जब गिनती के कलाकारों के पास काम हुआ करता था, तब भी ऊषा कहीं न कहीं शूट पर बिजी हुआ करती थीं। यही कारण है, कि अभी उनकी 11 फिल्में रिलीज होने के लिए तैयार हैं।
ऊषा विश्वकर्मा में एक खास बात यह भी है कि गायन, डांस के बीच शूटिंग के लिए भी पूरी पाबंदी के साथ तैयार रहती हैं। सेट पर टाइम से पहुंचना और डायरेक्टर की संतुष्टि तक हर शॉट को पूरा करना ऊषा अपनी आदत बताती हैं।
वे कहती हैं, कि डायरेक्टर के दिमाग में पूरी फिल्म होती है, जब तक वे संतुष्ट न हो जाएं, तब तक चाहे जितने भी टेक लग जाएं, एक कलाकार को कभी खीझ नहीं होनी चाहिए, बल्कि जितना ज्यादा हो सके, को-ऑपरेट करना चाहिए। शायद यही वजह है कि सिर्फ डायरेक्टर और प्रोड्यूसर ही नहीं, बल्कि साथी कलाकारों की नजर में भी ऊषा की काफी इज्जत है।
बहरहाल, ऊषा इन दिनों अपनी आगामी फिल्मों के इंतजार के साथ-साथ स्टेज शोज में काफी व्यस्त हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*