जांगिड़ समाज की शादी में बारातियों को मिला यह अनोखा उपहार

सीकर। शादी—व्याह में बहुत तरह के उपहार लोगों को दिये जाते हैं। परन्तु जांगिड़ समाज के एक व्यक्ति ने अपनी बेटी की शादी में बारातियों को अनोखा उपहार प्रदान किया। यह उपहार सुरक्षात्मक तो है ही लोगों के लिये प्रेरणादायी भी है।
लक्ष्मणगढ़ क्षेत्र के बीएसएफ में सबइंस्पेक्टर पिता गांव में सुविधाएं नहीं होने पर अपनी इकलौती बिटिया की शादी शहर में करना चाहते थे। इंतजाम की जिम्मेदारी के लिए दुल्हन के पिता ने अपने साले व लड़की के मामा रहनावा-लक्ष्मणगढ़ निवासी नंदलाल राजोतिया से सम्पर्क किया तो नंदलाल ने सभी बारातियों को हेलमेट भेंट करने की मंशा जताई। इस संबंध में एलआईसी में अधिकारी दूल्हे के पिता फतेहपुर निवासी अनिल कुमार से बात की गई तो उन्होंने तुरंत सहमति प्रदान की। नतीजन 20 फरवरी को देर रात लक्ष्मणगढ़ के जांगिड़ भवन में हुई शादी में सैकड़ो प्रबुद्धजनों की उपस्थिति में दुल्हन दीक्षा व दूल्हे भानुप्रताप ने वरमाला से पहले अपने हाथों से बारातियों को हेलमेट प्रदान कर सड़क सुरक्षा के लिए अनूठे तरीके से जागरूकता का संदेश दिया एवं बारातियों को स्वयं के साथ अन्य लोगों के जीवन की सुरक्षा की अपील की।
जांगिड़ समाज की ओर से किए गए इस अभिनव व अनुकरणीय पहल की पूरे दिन लक्ष्मणगढ़ सहित आसपास के गांवों में भी चर्चा हुई। लोगों ने दोनों परिवारों की प्रशंसा की। दुल्हन दीक्षा के पिता झुंझुनू के मांडासी निवासी ओमप्रकाश बीएसएफ में सबइंस्पेक्टर हैं, जबकि दूल्हे भानुप्रताप स्वयं एलआईसी फतेहपुर में विकास अधिकारी व उनके पिता अनिल कुमार एलआईसी में ही एएओ हैं।
निशांत व नंदलाल ने की पहल—
इस अनुकरणीय पहल के दो सूत्रधार रहे। लड़की के मामा नंदलाल राजोतिया व लक्ष्मणगढ़ नागरिक परिषद युवा प्रकोष्ठ के निशांत गोयनका। निशांत व नंदलाल की आमने सामने दुकानें हैं। नागरिक परिषद से जुड़े सामाजिक कार्यकर्ता निशांत गोयनका ने सड़क सुरक्षा व जागरूकता के लिए एक आयोजन करने की चर्चा नंदलाल से की। कुछ दिनों पहले नंदलाल के बहनोई ने अपनी इकलौती बिटिया की शादी लक्ष्मणगढ़ में करने की मंशा जताई। इस पर नंदलाल व निशांत ने आपस में बात कर इस मांगलिक मौके पर बारातियों को हेलमेट भेंट करने का निश्चय किया। निशांत ने नागरिक परिषद के अपने साथी सदस्यों के सहयोग से हेलमेट बांटने का प्रस्ताव रखा। नंदलाल ने यही प्रस्ताव अपने बहनोई के सामने रखते हुए इसके लिए अनुमति मांगी तो नंदलाल के बहनोई ने तुरंत सहमति प्रदान करते हुए इसके लिए खर्चा भी स्वयं ही वहन करने की बात कही। इसकी परिणति में ही दूल्हे भानुप्रताप व दुल्हन दीक्षा ने वरमाला से पहले 191 बारातियों सहित अन्य सगे सम्बन्धियों को हेलमेट प्रदान किए।

2 thoughts on “जांगिड़ समाज की शादी में बारातियों को मिला यह अनोखा उपहार

  1. इस वर परिवार की ओर से हेल्मेट सभी बारातियो को उपहार स्वरूप दिया गया, ये अपने आप में एक मिसाल तो हैं ही साथ में समाज को जागरुक भी करती है। ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: