विश्वकर्मा जयन्ती पर गाजे-बाजे के साथ निकली संकल्प शोभायात्रा

बीकानेर। श्री विश्वकर्मा संघ संस्थान के तत्वावधान में श्री विश्वकर्मा जयन्ती महोत्सव के उपलक्ष्य में संकल्प शोभायात्रा गाजे-बाजे के साथ निकाली। सेवा संघ संस्थान अध्यक्ष चतुर्भुज नागल, मंत्री परमेश्वर चूयल, कोषाध्यक्ष शिवकुमार बामणिया व आयोजन समिति संयोजक कन्हैयालाल नागल, समाजसेवी शिवजी कलाकार, पत्रकार पन्नालाल नागल, पूर्व पार्षद मेघराज कुलरिया, जोधपुर से युवा शक्ति की पार्वती जांगिड़, पत्रकार जितेन्द्र नागल ने शोभा यात्रा को झंडी दिखाकर रवाना किया।


बंगलानगर पूगल रोड स्थित श्री विश्वकर्मा मंदिर से श्री विश्वकर्मा संकल्प शोभायात्रा विश्वकर्मा भगवान के जयकारे के साथ पूगल रोड से विश्वकर्मा गेट, जस्सूसर गेट, चौखूंटी ओवरब्रिज, सार्दुल सिंह सर्किल, केईएम रोड, कोटगेट, दाऊजी रोड, मोहता चौक, सुथारों की बाड़ी गुवाड़ होते हुए लक्ष्मीनाथजी चौक स्थित श्री विश्वकर्मा मंदिर पहुंची। शोभा यात्रा में स्वच्छता अभियान, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ सहित 15 झांकियां थी, जिसमें छोटे-छोटे बच्चे विभिन्न रूप धारण किये हुए थे। श्री विश्वकर्मा संकल्प शोभा यात्रा को सफल बनाने में जयलाल भद्रेचा, वीरेन्द्र करल, हरिकिशन नागल, आशाराम बूढड़, बाबूलाल बरड़वा, गोपाल कुलरिया, राजू माकड़, जगदीश नागल, गणेश नागल, गोविंद मांडण, दीपका मांडण, मगाराम माकड़, गोपीकिशन मांडण, ताराचंद गेपाल, भीम सुथार, झंकार नागल, महेश बामणिया सहित युवाओं ने बढ़-चढ़कर भाग लिया।


समापन समारोह के मुख्य अतिथि विजय नागल थे। विशिष्ट अतिथि ओबीसी भाजपा देहात अध्यक्ष भंवर जांगिड़ और शहर भाजपा ओबीसी मोर्चा महामंत्री वीरेंद्र करल थे। समापन समारोह में अतिथियों के साथ—साथ छात्र छात्राओं को विभिन्न खेलकूद, मेहंदी रंगोली, केरम शतरंज आदि प्रतियोगिताओ के लगभग 200 विजेताओं को अतिथियों के साथ—साथ संस्थान अध्यक्ष चतुर्भुज नागल मंत्री परमेश्वर चुयल कोषाध्यक्ष शिव कुमार बामणिया शोभायात्रा संयोजक कन्हैयालाल नागल, पवन माकड़, लालजी कुलरिया, छगन जी छडिया, जयलाल भद्रेचा, मुल्तानराम मायल आदि को पुरस्कृत किया।
शोभायात्रा को सफल बनाने और व्यवस्थित रूप से संचालन में गोपाल कुलरिया, राजू कुलरिया, राजू माकड़, विमल, बाबूलाल बरड़वा, महेश बामणिया, जगदीश नागल, गोविंद मांडण, दीपू मांडण, आशाराम बूढड़, राकेश कुलरिया, गणेश नागल, राम, शिवकुमार कुलरिया, संजय नागल, झकाश, सिप्पी, मुकेश, झंवर लाल, मगाराम अशोक आदि सैकड़ो युवा दिन रात लगे हुए थे।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*