समाज में बदलाव के लिए शिक्षा के संकल्प के साथ आगे आएं बेटियां : डॉ0 जसवन्त

अलवर। श्रम एवं नियोजन विभाग मन्त्री डॉ0 जसवंत सिंह यादव ने बेटियों से आह्वान किया कि वे संकल्प लें कि इतनी काबिल बनेंगी कि अपनी सुरक्षा के साथ समाज की रक्षा भी करेंगी। डॉ0 यादव अलवर जिले के बहरोड़ की भगवाड़ी कला में स्थित महाराजा पी0जी0 महिला महाविद्यालय में जांगिड फाउण्डेशन के तत्वाधान में आयोजित ‘सशक्त नारी-सशक्त भारत’ की थीम पर महिला आत्मसुरक्षा प्रशिक्षण कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में सम्बोधित कर रहे थे।
उन्होंने कहा कि समाज में बदलाव शिक्षित बेटी ही ला सकती है। इसके लिए प्रत्येक बेटी को प्रतिबद्धता के साथ शिक्षा ग्रहण करनी होगी। देश के प्रधानमंत्री ने बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना शुरू कर देश में बेटियों के प्रति नई चेतना का संचार किया है। उन्होंने विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाली बेटियों एव अन्य प्रतिभाओं को प्रतीक चिन्ह भेट कर सम्मानित किया।
महिला अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक ऋषिराज सिंगल ने बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना की विस्तार से जानकारी देते हुए बेटियों की सुरक्षा के लिए उपलब्ध कानूनों की भी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि बेटियां दुर्व्यवहार को सहन नहीं करें, बल्कि मजबूती के साथ विरोध करें। उन्होंने सामाजिक परम्पराओं को बेटी के जन्म से जोड़ने का आह्वान करते हुए कहा कि बेटी के जन्म पर थाली बजवाएं और मंगल गीत गाकर उन्हें समानता का दर्जा प्रदान करें।
कार्यक्रम में केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल के महाराणा प्रताप क्षेत्रीय प्रशिक्षण केन्द्र अन्नतपुरा तथा दिल्ली पुलिस के प्रशिक्षकों ने बेटियों को आत्मसुरक्षा का प्रशिक्षण प्रदान किया। जांगिड़ फाउण्डेशन के चेयरमैन राजेश शर्मा ने आभार जताया। इस अवसर पर जांगिड़ फाउण्डेशन के सचिव विक्रम जांगिड़, महाविद्यालय के चेयरमैन महावीर सिंह, जिला पार्षद देशराज खरेरा, जांगिड़ फाउण्डेशन महेश जांगिड़, सुमन डागर एवं अशोक चुग सहित कई लोग मौजूद थे।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*